यूपी-बिहार में इस दिन हो सकती है मॉनसून की बारिश, अब और नहीं गर्मी की मार, आ गई लू से राहत वाली खबर

नई दिल्ली
देश के आधे हिस्से में मॉनसून पहुंच गया है मगर आधे हिस्से में रहने वाली आबादी मॉनसून की बारिश का बेसब्री से इंतजार कर रही है। देश के अलग-अलग राज्यों में मौसम का मिजाज काफी अलग सा है। कहीं भारी बारिश की संभावना है तो कुछ राज्य भीषण गर्मी की चपेट में हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 4-5 दिनों के दौरान उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और पूर्वोत्तर भारत में भारी से बहुत भारी वर्षा तथा कुछ स्थानों पर अत्यंत भारी वर्षा जारी रहने की संभावना है। वहीं अगले 4-5 दिनों के दौरान भारत के उत्तरी भागों में भीषण हीटवेव की स्थिति जारी रहने की संभावना है।

लू से हालत होगी खराब
मौसम विभाग के मुताबिक, 13-17 तारीख के दौरान उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में भीषण लू की स्थिति जारी रहेगी। वहीं 13-15 तारीख के दौरान पश्चिम बंगाल के के मैदानी इलाकों, बिहार, झारखंड और झारखंड में छिटपुट जगहों पर लू चलने की संभावना बनी हुई है। अगले 5 दिनों के दौरान पंजाब और हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली में लू की संभावना बनी हुई है। 13-16 तारीख के दौरान हिमाचल प्रदेश, जम्मू, उत्तर-पूर्व मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों में लू चलने की संभावना है। 14 और 15 को उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तरी छत्तीसगढ़ और ओडिशा, उत्तर-पश्चिमी राजस्थान में मौसम गर्म रहने की संभावना है। 13 और 14 जून, 2024 को पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में रात में गर्म मौसम रहने की संभावना बनी हुई है।

राजस्थान में लोगों का गर्मी से बुरा हाल
राजस्थान के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से दो से पांच डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया। गंगानगर 46.7 डिग्री सेल्सियस के साथ राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा। यहां तापमान सामान्य से 5.2 डिग्री अधिक दर्ज किया गया। जयपुर मौसम केन्द्र के प्रभारी राधेश्याम शर्मा ने बताया कि आगामी दो-तीन दिनों में राज्य के उत्तरी एवं पश्चिमी भागों में अधिकतम तापमान 44-46 डिग्री सेल्सियस होने और कहीं-कहीं हीटवेव चलने की संभावना है। वहीं पश्चिमी हिस्सों में कहीं-कहीं 25-30 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज सतही हवाएं चलने की सम्भावना है।

क्या है मॉनसून की स्थिति
वहीं मॉनसून की स्थिति की बात करें तो सुस्त दक्षिण-पश्चिम मानसून बुधवार को महाराष्ट्र के बड़े हिस्से को अपने दायरे में ले लिया, जबकि भीषण गर्मी से जूझ रहे मध्य और उत्तर भारत को अब भी मानसून के पहुंचने का इंतजार है। आईएमडी ने कहा कि मानसून अगले तीन से चार दिनों के दौरान ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी तक पहुंच सकता है। एक अधिकारी ने कहा, “बंगाल की खाड़ी में मानसून कमजोर है और इसके वहां से आगे बढ़ने का इंतजार है।”

कब तक हो सकती है मॉनसून की बारिश
मौसम विभाग द्वारा जारी एक मैप के मुताबिक, मॉनसून 10-15 जून के बीच में पूरे बंगाल और पूर्वी बिहार और पूर्वी झारखंड तक, 15-20 जून तक पूरे बिहार-झारखंड और पूर्वी उत्तराखंड और पूर्वांचल तक, 20-25 जून तक आधे उत्तर प्रदेश और पूरे उत्तराखंड तक और 25-30 जून तक पूरे उत्तर प्रदेश को कवर करते हुए दिल्ली तक पहुंचेगा। वहीं 30 जून से 8 जुलाई तक मॉनसून पंजाब, हरियाणा और राजस्थान तक पहुंच जाएगा। ऐसी स्थिति में गर्मी की मार झेल रहे लोगों को बारिश राहत दे सकती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *