अकेले में ही मिलवाते थे… पहलवानों से यौन उत्पीड़न में बृजभूषण की मदद कर रहे थे विनोद तोमर: चार्जशीट

 नई दिल्ली
कुश्ती महासंघ के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के साथ ही सहायक सचिव रहे विनोद तोमर की भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दिल्ली पुलिस ने महिला पहलावनों के यौन उत्पीड़न के मामले में जो चार्जशीट दाखिल की है, उसमें दावा किया गया है कि विनोद तोमर ने बृजभूषण शरण सिंह की मदद की थी। चार्जशीट में कहा गया है कि विनोद तोमर जानबूझकर यौन उत्पीड़न में बृजभूषण शरण सिंह की मदद कर रहे थे। उन्हें इस केस में सहआरोपी बनाया गया है। 6 महिला पहलवानों में से 2 की शिकायत में विनोद तोमर भी बृजभूषण शरण सिंह के साथ सहआरोपी हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक चार्जशीट में कहा गया है कि विनोद तोमर महिला पहलवानों की बृजभूषण शरण सिंह से उसी वक्त मुलाकात कराते थे, जब वह अकेले हों। ऐसा तीन बार हुआ, जब तोमर ने उसी वक्त बृजभूषण से पहलवानों की मुलाकात कराई, जब वह अपने ऑफिस में अकेले थे। यही नहीं दो मामले तो ऐसे हैं, जब बृजभूषण सिंह से मिलने जा रहीं पहलवानों के पति और कोच को विनोद तोमर ने बाहर ही रोक लिया। फिर दोनों पहलवानों की अकेले में ही भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह से मुलाकात कराई। यह वाकये दिल्ली के अशोका रोड स्थित बृजभूषण शरण सिंह के सांसद आवास के हैं। यहीं पर उन्होंने अपना ऑफिस भी बना रखा था।

विनोद तोमर पर किन धाराओं में दर्ज किया गया केस

विनोद तोमर बीते दो दशकों से कुश्ती महासंघ का हिस्सा हैं। उन पर आपराधिक साजिश रचने की धारा 506, महिला से यौन उत्पीड़न की धारा 354 ए और 354 के तहत केस दर्ज किया गया है। इस पूरे मामले में अब तक विनोद तोमर का पक्ष नहीं आ सका है। बृजभूषण शरण सिंह तो लगातार मुखर रहे हैं और अपने खिलाफ लगे आरोपों को गलत बताते रहे हैं, लेकिन विनोद तोमर इस पर चुप्पी ही साधे रहे हैं। विनोद तोमर को बृजभूषण के करीबी लोगों में गिना जाता है। माना जाता है कि उनके चलते ही वह कुश्ती महासंघ का हिस्सा थे।

पति को रोक दिया और मुझे… क्या बोली महिला पहलवान

एक महिला पहलवान ने अपनी शिकायत में विनोद तोमर पर आरोप लगाया है कि उन्होंने बृजभूषण से अकेले ही मिलने जाने को कहा। पहलवान ने कहा, 'मैं जब दिल्ली में कुश्ती महासंघ के दफ्तर पहुंची तो मेरे पति भी साथ थे। लेकिन विनोद तोमर ने अकेले मुझे ही ऑफिस में जाने दिया। उन्होंने जानबूझकर पति को अंदर जाने से रोका था। उसी दिन बृजभूषण शरण सिंह ने मेरे से छेड़छाड़ की थी। इसके बाद अगले दिन फिर पति को नहीं जाने दिया गया और पहले की तरह ही छेड़छाड़ की गई।'