विधानसभा चुनाव से पहले नगरनार स्टील प्लांट के उद्घाटन की तैयारी जोरो पर

जगदलपुर.
नगरनार स्टील प्लांट को कमीशनिंग करने की दिशा में प्रक्रिया शुरू हो गयी है, लेकिन कुछ कार्य बचे होने के कारण ब्लॉस्ट फर्नेस को चालू नहीं किया जा रहा है, अब जल्द ही चालू करने की तैयारी चल रही है, वर्तमान में प्लांट के दोनों कोक ओवन को चालू किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार केंद्र में भाजपा सरकार के अधीन स्टील प्लांट का काम एनएमडीसी कर रही है। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव से पहले स्टील प्लांट को शुरू करने के निर्देश दिल्ली से लगातार मिल रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों नगरनार स्टील प्लांट का विधिवत उद्घाटन होना तय है। प्रधानमंत्री बस्तर को पहले स्टील प्लांट को समर्पित कर यहां के बड़े वोट बैंक को प्रभावित कर सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि करीब 23 हजार करोड़ से अधिक की लागत से स्थापित नगरनार स्टील प्लांट में उत्पादन शुरू होने का बस्तरवासियों को लंबे समय से इंतजार है, क्योंकि नगरनार का यह स्टील प्लांट बस्तर का पहला स्टील प्लांट है। प्लांट के भीतर एक के बाद एक यूनिट को चालू किया जा रहा है। सबसे अंत में ब्लॉस्ट फर्नेस को चालू किया जाएगा, जो कि लोहा को गलाने का काम करता है। लोहा को गलाने के बाद स्टील मेल्टिंग शॉप में ले जाया जाता है, लेकिन स्टील मेल्टिंग शॉप में कुछ काम बचा हुआ है, जिसे पूरा करने प्रबंधन जुटा हुआ है।

नगरनार स्टील प्लांट का विनिवेशीकरण करने की प्रक्रिया लंबे समय से चल रही थी, लेकिन अभी पूरी नहीं हुई है। समय-समय पर विनिवेशीकरण का पूरजोर विरोध भी होता रहा, लेकिन अब विरोध शांत हो गया है। हालांकि प्लांट में कार्यरत अधिकारी-कर्मचारियों को दिक्कत नहीं आएगी, क्योंकि स्टील प्लांट में एनएमडीसी का दखल रहेगा। वहीं प्लांट के श्रमिक एनएमडीसी में इस संबंध में ठोस पहल करने की मांग कर रहे हैं।

एनएमडीसी के पब्लिक रिलेशन के जीएम रफीक अहमद जिनाबड़े ने बताया कि सभी काम लगभग अंतिम दौर में पहुंच चुके हैं, आने वाले तीन से चार महीने के भीतर हम कमीशनिंग शुरू कर सकते हैं। चरणबद्ध तरीके से काम चल रहा है। इसी के तहत अब क्वाइल का ट्रायल शुरू किया गया है। इसमें सफलता मिलते ही ब्लास्ट फर्नेस, थिन स्लैब, कास्टर और स्टील मेल्टिंग शॉप की कमीशनिंग भी शुरू हो जाएगी।