प्रेमी युगल को ले जाती महोबा पुलिस की बुलेरो ट्रोला में भिड़ी, युवती की मां की मौत, 7 घायल

फिरोजाबाद
दिल्ली से प्रेमी युगल को बरामद करके महोबा ले जा रही पुलिस की बोलेरो गाड़ी सोमवार की सुबह आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे पर ट्रॉला से टकरा गई। हादसे में युवती की मां की मौत हो गई। जबकि उसमें सवार 4 पुलिसकर्मी सहित 7 घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए सैफई पीजीआई भेज दिया।

सोमवार की सुबह महोबा के थाना कबरई की पुलिस एक युवती और उसके प्रेमी को दिल्ली से बरामद करके बुलेरो यूपी 83 एएन 7111 से महोबा जा रही थी। सोमवार की सुबह साढ़े पांच बजे आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे के थाना नगला खंगर क्षेत्र में बुलेरो चालक को नींद का झोंका आने से बुलेरो आगे जा रहे ट्रॉला से टकरा गई।

ट्रोला में बुलेरो का आगे का हिस्सा बुरी तरह फंस गया। हादसे में अपहृता की मां मीना पत्नी रमाकांत निवासी कबरई महोबा की उपचार को सैफई ले जाते समय मौत हो गई। जबकि कबरई थाने के उपनिरीक्षक जय शंकर पांडे, कॉन्स्टेबल सुरजीत, सुभम, कॉन्स्टेबल मंजू लता, अपहृता प्रांशी, प्रेमी नरेंद्र और पुलिस की गाड़ी का चालक संतराम सभी घायल हो गए। हादसे की सूचना पर पहुँची नगला खंगर पुलिस ने सभी घायलों और मृतका के शव को सैफई अस्पताल भेज दिया है। इस बारे में सीओ सिरसागंज प्रवीन तिवारी का कहना है कि बुलेरो और ट्रॉला की भिड़ंत हुई है। हादसे में बरामद कर लाई जा रही युवती की मां की उपचार को ले जाते समय मौत हो गई। जबकि महोबा के कबरई के पुलिसकर्मी और बरामद युवती और युवक घायल हुए हैं। सभी घायलों को इलाज के लिए सैफई में भर्ती कराया है।

बिखरी पड़ी थीं सड़क पर कैप
पुलिसकर्मियों को हादसे के समय नींद आ रही थी। इसके अलावा बरामद युवती, युवक और उसकी मां भी सो रही थी। अचानक हादसा होते ही चीख पुकार मचने लगी। वहीं हाईवे पर पुलिसकर्मियों की कैप भी नीचे पड़ी मिली थीं। बुरी तरह घायल पुलिसकर्मियों को उपचार के लिए सैफई भेजा गया था।

आसपास के किसान बनते हैं मददगार
एक्सप्रेसवे पर जब भी हादसा होता है तो किसान मददगार बनते हैं। सोमवार की अलसुबह भी किसान खेतों से दौड़कर आए थे। राहगीरों के वाहन भी हर बार की तरह रुके तब जाकर घायलों को पुलिस और यूपीडा की मदद से उपचार को भेजा गया।