एमसीसी सदस्यों के साथ हुई झड़प को उस्मान ख्वाजा ने बताया निराशाजनक, 3 हुए सस्पेंड

नई दिल्ली

ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा ने लॉर्ड्स के लॉन्ग रूम में एमसीसी के कुछ सदस्यों के साथ हुई झड़प को निराशाजनक बताया है। हालांकि इस विवाद को तूल पकड़ता देख एमसीसी ने तुरंत माफी मांग ली है और अपने 3 सदस्यों को जांच पूरी होने तक सस्पेंड भी कर दिया है। बता दें, एशेज 2023 का दूसरा टेस्ट 'क्रिकेट का मक्का' कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान पर खेला गया था। इस मैच को कंगारुओं ने 43 रनों से जीतकर 5 मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है।

बात घटना की करें तो, पांचवे दिन का लंच होने पर जब ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी लॉर्ड्स के लॉन्ग रूम से गुजर रहे थे तब वहां मौजूद एमसीसी के सदस्यों ने कुछ कमेंट किए जो उस्मान ख्वाजा को पसंद नहीं आए और वह जवाब देने रुक गए। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच जमकर बहस हुई। कुछ देर बाद डेविड वॉर्नर भी ख्वाजा को सपोर्ट करने पहुंचे, मगर सुरक्षा कर्मियों ने बीच में आकर मामला शांत कराया।

उस्मान ख्वाजा ने चैनल 9 से कहा 'वास्तव में यह बहुत निराशाजनक था। लॉर्ड्स मेरी पसंदीदा मैदानों में से एक है, लॉर्ड्स में बहुत सम्मान दिखाया जाता है, खासकर लॉन्ग रूम में सदस्यों के मंडप में, लेकिन आज ऐसा नहीं हुआ। यह बहुत निराशाजनक था। अगर कोई मुझसे पूछता है कि खेलने के लिए सबसे अच्छी जगह कहां है, तो मैं हमेशा कहता हूं कि लॉर्ड्स, फैंस बहुत अच्छे हैं, खासकर सदस्य बहुत अच्छे हैं, (लेकिन) सदस्यों के मुंह से निकली कुछ बातें वास्तव में निराशाजनक थीं।'

उन्होंने आगे कहा 'मैं चुप रहकर इसका मुकाबला नहीं करने वाला था, इसलिए मैंने बस उनमें से कुछ से बात की। उनमें से कुछ कुछ बहुत बड़े आरोप लगा रहे थे और मैंने उनका जवाब दिया। वे बोलते रहे और मैंने कहा, 'ठीक है, यहां आपकी सदस्यता है', इसलिए मैं बस उन्हें प्वाइंट आउट कर रहा था। ईमानदारी से कहूं तो यह बहुत अपमानजनक है। मैं सदस्यों से बहुत बेहतर की उम्मीद करता हूं।'