आटे के दीपक इस विधि से जलाएं, सभी मनोकामना होगी पूरी

हिंदू धर्म में कोई भी पूजा बिना दीया जलाए अधूरी मानी जाती है. दीपक जलाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है. ऐसी मान्यता है कि दीपक जलाने से घर का वातावरण शुद्ध और सकारात्मक बना रहता है. वहीं पूजा-पाठ और मनोकामना पूर्ति के लिए मिट्टी और आटे के दीपक जलाने के बारे में विस्तार से बताया गया है. तो ऐसे में आइए आज हम आपको अपने इस लेख में आटे के दीपक जलाने के महत्व और नियम के बारे में विस्तार से बताएंगे, जिससे आपकी सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी और शुभ फल की प्राप्ति होगी.

गेहूं के आटे के करें ये उपाय

1. गेहूं के आटे का दीप जलाएं
ज्योतिष शास्त्र में अगर आप किसी त
रह के विवाद में फंसे हुए हैं और उससे छुटकारा पाना चाहते हैं, तो इसके लिए आप गेहूं के आटे का दीपक जलाएं. इससे आपको वाद-विवाद से जल्दी छुटकारा मिल जाएगा.

2. मूंग के आटे के करें ये उपाय
अगर आप घर में मूंग के आटे का
दिया जलाते हैं, तो इससे आपके घर में सुख-समृद्दि की प्राप्ति होगी और दरिद्रता दूर हो जाएगी. साथ ही आपको सभी काम में सफलता की प्राप्ति होगी.

3.  उड़द के आटे का दीपक
अगर आप शत्रु पर विजय प्राप्त करना चाहते हैं, तो इसके लिए उड़द के आटे के दीपक जलाएं. ऐसा करने से आपको सभी शत्रुओं से छुटकारा मिल जाएगी.

4. आटे के दीपक जलाने के होते हैं ये फायदे
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, हर देवी-देवताओं को रोशनी बेहद प्रिय होता है. अगर आप भगवान के पास दीपक जलाते हैं और पूजा-पाठ के साथ अनुष्ठान करते हैं, तो इससे आपके घर का वातावरण शुद्ध हो जाएगा, साथ ही सकारात्मकता का भी संचार होगा.

5. दीपक जलाने के नियम
ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से अगर आपने कोई मन्नत मानी है और वह पूरी हो जाती है तो उसके लिए घटते या बढ़ते क्रम में दीपक जलाना चाहिए. इसमें 11, 21 और 31 दिन का महत्व माना जाता है. इन सभी दीपक को आप एक से शुरू करके 11 तक ले जाएं. उसके बाद मनोकामना पूरी होने के बाद इन्हें घटते क्रम में जैसे पहले दिन 11 दीपक, दूसरे दिन 10 दीपक, तीसरे दिन 9 दीपक करते हुए एक दीपक तक लाना चाहिए. इससे आपकी मन्नडत पूरी हो जाएगी.