बाघ की खाल के साथ सात ग्रामीण गिरफ्तार, शिकारियों के खिलाफ अभियान में बड़ी सफलता

बीजापुर
बीजापुर जिले के भोपालपट्टनम अभ्यारण क्षेत्र के रुद्रारम में मुखबिर की सूचना पर वन विभाग ने बाघ की खाल के साथ सात ग्रामीणों को शुक्रवार की देर रात गिरफ्तार किया है। बीती रात उदंती सीतानदी अभ्यारण्य के एंटी पोचिंग टीम ने इंद्रावती वन अमला व पुलिस के साथ मिल ये सयुंक्त कार्रवाई की है। बता दें कि 3 जून से लेकर अब तक टीम ने 50 से ज्यादा तस्कर पकड़े हैं। उदंती सीतानदी अभ्यारण्य टीम की ओर से 3 जून से शिकारियों के खिलाफ चलाए गए अभियान को महीने के खत्म होते-होते एक और बड़ी सफलता मिली।

इंद्रावती टाइगर रिजर्व के संचालक धम्मशील गणवीर ने बताया कि वन विभाग की विशेष टीम ने यह कार्रवाई की है। जो खाल मिली है वह लगभग ढाई वर्ष के शावक की है। इस मामले में गिरफ्त में आये ग्रामीणों से पूछताछ की जा रही है अभी कुछ और भी गिरफ्तारी होनी है। उप संचालक का कहना है कि अभी कार्रवाई जारी है। विस्तृत जानकारी पूरी कार्रवाई होने के बाद दी जाएगी। सात पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ विभाग के द्वारा कार्रवाई की गई।

भोपालपट्टनम क्षेत्र में सागौन, रेत के बाद अब वन्य जीवों के खाल की तस्करी

जिले अंतिम छोर में बसे भोपालपटनम क्षेत्र में आये दिन सागौन, रेत की अवैध कारोबार के मामले आते रहते हैं। वहीं इसी क्षेत्र से एक नया मामला सामने आया है। भोपालपट्टनम अभ्यारण क्षेत्र में माफिया वन्य प्राणियों का शिकार कर अवैध कारोबार में लगे हैं। रुद्रारम तथा पोषणपल्ली के सात ग्रामीणों को बाघ के खाल साथ पकड़ा गया है। जानकारी अनुसार विभाग को सूचना मिलने पर उदंती सीतानदी अभ्यारण व इंद्रावती राष्ट्रीय उद्यान से विशेष संयुक्त टीम तैयार की गई थी। इस टीम के द्वारा देर रात मौके पर छापामार कार्रवाई करते हुए बाघ का खाल बरामद किया।