छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में लव जिहाद, हिंदू युवती को जाल में फंसाया, आरोपित सलाखों के पीछे

रायपुर
छत्तीसगढ़ में बिलासपुर के सकरी थाना क्षेत्र में लव जिहाद की सनसनी घटना से लोगों में आक्रोश है। स्थानीय पुलिस ने पहले तो इस घटना पर हीलाहवाली की। तब आईजी बद्रीनारायण मीणा से फरियाद कर इंसाफ की गुहार लगाई गई।

अंततः आईजी के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ। शुक्रवार को युवती की मेडिकल जांच कराई गई। पुलिस ने आरोपित आकिब जावेद (22) को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है। आकिब कुम्हारपारा जरहाभाठा का रहने वाला है।

पुलिस के अनुसार आकिब जावेद का निशाना बनी प्राइवेट जॉब करने वाली 22 वर्षीय हिंदू युवती का चार साल तक शारीरिक शोषण किया गया। उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया गया। आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया। उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

बताया गया है कि आकिब और उसके रिश्तेदारों से परेशान यह युवती कुछ दिन पहले फरियाद लेकर सकरी थाना गई थी। तब पुलिस ने प्रेम प्रसंग का मामला बताकर उसे भगा दिया था। इंसाफ न मिलने पर मजबूरी में उसने आईजी के दर पर दस्तक दी।

युवती का आरोप है कि आकिब ने उसके साथ कई बार जबरदस्ती संबंध बनाए। वह गर्भवती हो गई। पता चलने पर उसका जबरदस्ती गर्भपात करा दिया गया। फिर भी वह संबंध बनाता रहा। वह इससे तंग आ गई। तब उसने आइंदा ऐसा करने पर पुलिस के पास जाने की चेतावनी दी।

पीड़ित का कहना है तब आकिब ने उससे जल्द शादी का वादा किया। इसके बाद आकिब और उसके रिश्तेदारों ने उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया। वह इसके लिए तैयार नहीं हुई। आकिब से हिंदू रीति-रिवाज से विवाह करने का आग्रह किया। इस पर उसके साथ मारपीट की गई। यह सिलसिला कई महीनों तक चला। एक हफ्ता पहले भी उसकी पिटाई की गई और जेवर भी छीन लिए।