व्यापार

सोन के आभूषण बनवाने के लिए यह अच्छा समय: एक्सपर्ट्स

नई दिल्ली
देसी मार्केट में सोने के भाव में गिरावट देखी जा रही है। सोने का भाव 3 महीने के निचले स्तर पर आ गया है। मार्च के शुरुआत में सोने का भाव करीब 56 हजार रुपये तौला यानी प्रति 10 ग्राम तक पहुंच गया था। अब सोने के रेट में काफी कमी आई है। सोमवार को मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर गोल्ड का प्राइस 49,937 रुपये प्रति 10 ग्राम पहुंच गया।

कूचा महाजनी में दि बुलियन एंड जूलर्स असोसिएशन के चेयरमैन योगेश सिंघल ने बताया कि बीते दिन शुद्ध सोने का भाव करीब 52 हजार रुपये था। अब यह 50 हजार रुपये तक भी गिर जाए, तो हैरानी की बात नहीं है। मौजूदा स्थिति में सोने का रेट 50 से 52 हजार रुपये के बीच हो, तो जूलरी खरीद लेनी चाहिए। अब इंतजार करना ठीक नहीं होगा। आने वाले दिनों में बाजार में जूलरी की कमी भी महसूस हो सकती है। बहुत से सुनारों ने सोने का भाव ऊंचा होने की वजह से स्टॉक भी रोक रखा था। गोल्ड का रेट 50 हजार रुपये के आसपास रहेगा, तो सभी अपने स्टॉक को भरेंगे। रेट घटेगा, तो माल बिकेगा। इससे जूलरी लाइन में बूम आएगा।

उन्होंने बताया कि अब तक जिनके घरों में शादी-ब्याह हुए, उन्होंने सोने-चांदी के आभूषण खरीदे। अब उन लोगों को भी खरीदारी कर लेनी चाहिए, जिनके यहां अगले 3-4 महीनों में कार्यक्रम होने हैं। ब्याज दर बढ़ने से सोना टूटा है। पिछले कारोबारी हफ्ते में सोने के भाव में 1000 रुपये प्रति 10 ग्राम से ज्यादा और चांदी में 2000 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट आई है। हाल में फेडरेल रिजर्व, बैंक ऑफ इंग्लैंड और आरबीआई की ओर से ब्याज दर में इजाफा किया गया। इंडियन बुलियन एंड जूलर्स असोसिएशन (IBGA) की माने तो सोमवार को 24 कैरेट सोने का भाव 50,367 रुपये प्रति 10 ग्राम, 23 कैरेट 50165 रुपये प्रति 10 ग्राम, 22 कैरेट 46,136 रुपये प्रति 10 ग्राम, 20 कैरेट 37,775 रुपये और 14 कैरेट के सोने का भाव 29,465 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा। आईबीजेए की ओर से जारी रेट पर 3 प्रतिशत जीएसटी अलग से देना होता है।

ग्राहकों के लिए स्वर्णिम अवसर
ये ग्राहकों के लिए स्वर्णिम अवसर है। अब सोने का भाव नीचे आया है, तो लोग खरीदारी के साथ इन्वेस्टमेंट भी कर रहे हैं। शादी-ब्याह के लिए शॉपिंग जारी है। हर कोई लाभ लेना चाहता है। अभी भाव में थोड़ी गिरावट और दर्ज हो सकती है। उम्मीद है कि 48 से 50 हजार रुपये तौला भी सोना पहुंच जाए। अब जूलर्स भी दीपावली की खरीदारी शुरू कर देंगे। दुकानदार सैंपलिंग करेंगे। कंपनियों के ऑर्डर उठाएंगे, जिसे दीपावली तक डिलीवर करना होगा। अब कोविड-19 का संक्रमण कमजोर हो गया है। मार्केट में कोरोना का भय भी नहीं है। शादी-ब्याह में पूरी भीड़ जुट रही है। गिफ्ट देने का चलन लौटा है। सोने-चांदी के गिफ्ट आइटम्स की सेल बढ़ी है। फंक्शन में शामिल होने वालों की संख्या बढ़ी है। लोग भी कार्यक्रमों में नई जूलरी पहनकर जाना पसंद कर रहे हैं। इससे जूलर्स का बिजनेस उठा है।