खेल

ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में राफेल नडाल छठी बार पहुंचे, 21वें ग्रैंडस्लैम खिताब से महज एक कदम दूर

नई दिल्ली
स्पेन के राफेल नडाल ने धमाकेदार प्रदर्शन जारी रखते हुए छठी बार ऑस्ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में अपनी जगह बना ली है। नडाल अब अपना 21वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने से म​​हज एक दूर हैं। नडाल अगर फाइनल जीत जाते हैं तो वह 21 ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाले पहले मेंस टेनिस खिलाड़ी बन जाएंगे। नडाल ने सेमीफाइनल में सातवीं सीड इटली के माटिओ बैरेटिनी को मात दी। नडाल की हार्ड कोर्ट पर यह 500वीं जीत है। साथ ही वह अबतक 29 बार किसी ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंचे हैं। 20 बार के ग्रैंडस्लैम चैंपियन नडाल ने शुक्रवार को माटिओ बैरेटिनी को मात देकर छठी बार ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में प्रवेश किया। उन्होंने रॉड लेवर एरेना में खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में इटली के बैरेटिनी को तीन सेटों तक चले मुकाबले में शिकस्त दी। नडाल ने 6-3, 6-2, 3-6, 6-3 से मुकाबला अपने नाम किया। 35 साल के नडाल ने दो घंटे और 55 मिनट में जीत दर्ज की। फाइनल रविवार को खेला जाएगा। अब तक सिर्फ एक बार 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन जीत सके नडाल ने पहले दोनों सेटों में दबदबा बनाए रखा और इतालवी प्रतिद्वंद्वी को कोर्ट के चारों ओर घुमाया। दूसरे सेट में उन्होंने 4-0 की बढत बना ली और बैरेटिनी 11 प्रयासों में सिर्फ एक बार अपनी दूसरी सर्विस पर अंक बना सके।

फाइनल में नडाल का सामना डेनिल मेदवेदेव और स्टेफानोस सितसिपास के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले के विजेता से होगा। नडाल अगर फाइनल भी जीत जाते हैं तो वह सर्बिया के नोवाक जोकोविच और स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर से भी आगे निकल जाएंगे और 21वां ग्रैंडस्लैम खिताब अपने नाम कर लेंगे। इसके साथ ही सभी चार ग्रैंडस्लैम कम से कम दो बार जीतने वाले दूसरे पुरूष खिलाड़ी बन जाएंगे।