देश

अविनाश के पिता ने त्यागा अन्न

बेनीपट्टी (मधुबनी)
अविनाश की हत्या को लेकर लोगों का आक्रोश शांत होने का नाम नहीं ले रहा। स्वजन उस समय का इंतजार कर रहे जब अविनाश के हत्यारों को पुलिस गिरफ्तार करेगी और उन्हें कठोर सजा मिलेगी। अविनाश नौ नवंबर को गायब हुआ था और 12 को उसका शव मिला था। अविनाश के गायब होने के बाद से ही उसके पिता ने अन्न त्याग दिया। 15 दिन हो गए, लेकिन अविनाश के पिता ने अन्न ग्रहण नहीं किया है। कहा कि जब तक मेरे बेटे के कातिलों को पुलिस ढ़ूंढ़ नहीं लेती, तब तक अन्न ग्रहण नहीं करेंगे। स्वजनों व ग्रामीणों के लाख समझाने के बावजूद भी पिता अन्न ग्रहण नहीं कर रहे हैं। वे अपनी जिद पर अड़े हैं। पुत्र अविनाश की हत्या के बाद माता-पिता के आंसू थम नहीं रहे। अन्न ग्रहण नहीं करने के कारण शारीरिक कमजोरी से वे कई बार बेहोश होकर गिर पड़ते हैं। अविनाश की याद में स्वजनों का भी रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक अविनाश के बड़े भाई त्रिलोक झा ने कहा कि जिस तरह से अविनाश की अपहरण के बाद हत्या हुई और हमलोगों को प्रशासन ने न्याय का भरोसा दिलाया, आज तक उसी भरोसे हैं, लेकिन जिस तरह से न्याय में देरी हो रही है, उससे उम्मीद टूट रही है। घटना के 15 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस अब तक अविनाश हत्याकांड के साजिश रचने वाले एवं मास्टर माइंड को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। कहा कि मेडिकल माफियाओं ने अविनाश की हत्या करवाई है। 11 नवंबर को फर्जी नर्सिंग होम के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज करा शंका जाहिर की गई थी, लेकिन पुलिस ने अब तक फर्जी नर्सिंग होम के संचालक को गिरफ्तार नहीं किया जिससे उनकी मंशा पर सवाल उठ रहे हैं। मौके पर दयानंद झा, बीजे विकास सहित अन्य लोग मौजूद थे।