छत्तीसगढ़ रायपुर

शहर में पालीथिन मुक्ति हेतु निकाली गई सद्बुद्धि यात्रा

रायपुर । पालीथिन रूपी रावण को समाप्त करने ग्रीन आर्मी आफ रायपुर ने सदबुद्धि यात्रा निकाली और आम जनता से पालीथिन का उपयोग नहीं करने की अपील की। प्रवक्ता शशिकांत यदु ने बताया कि ग्रीन आर्मी आर्मी आफ रायपुर द्वारा विजय दशमी के पर्व पर शहर में पालीथिन मुक्ति हेतु सद्बुद्धि यात्रा निकाली गई। यह रैली श्री बजरंग मंदिर सार्वजनिक न्यास ब्राम्हण पारा द्वारा स्थापित मां दुर्गा की महाआरती एवं मंत्रोपचार के पश्चात निकाली गई।

रैली ब्राम्हण पारा से आजाद चौक, से अम्बा मंदिर सत्ती बाजार से बैस गली हनुमान मंदिर, कंकाली पारा मंदिर से सुहागा मंदिर होते हुए आजाद चौक में समाप्त हुई। रैली के मध्य आने वाले प्रत्येक दुर्गा पंडाल एवं मंदिरों में पालीथिन मुक्ति हेतु संस्था के सदस्यों द्वारा मंगल कामना की गई।

ठेलों, गुमटीयों, एवं दुर्गा पंडालों में पालीथिन मुक्ति का पेपर स्टीकर लगाया गया। साथ ही राहगीरों एवं घर घर में पेपर बैग का वितरण किया गया। रैली में पूर्व महापौर वर्तमान सभापति प्रमोद दुबे विशेष रूप से उपस्थित रहे। रैली का मुख्य उद्देश्य लोगो में जागरूकता लाना था।

सभापति प्रमोद दुबे ने कहा पालीथिन मुक्ति हेतु शासन प्रशासन अपने स्तर पर कार्य कर रही है किन्तु ग्रीन आर्मी के इस मुहिम से लोगों मे जागरूकता देखने को मिल रही है। केवल कार्यवाही मात्र से काम नही चलेगा। इस मुहिम से लोग जागरूक होंगें और पालीथिन के उपयोग में कमीआएगी।, हम पर्यावरण हेतु आपके साथ है शहर प्रदुषण मुक्त हो इसके लिये हमने नो वेहीकल डे भी चालू किया है, जिसमें ग्रीन आर्मीवसंस्था का सहयोग मिलता है।

संस्था के संस्थापक अमिताभ दुबे ने कहा कि ग्रीन आर्मी आफ रायपुर द्वारा लगातार विभिन्न माध्यमों से पालीथिन पाबंदी के लिए अभियान चलाया जा रहा है।

शहरवासी हमारा साथ दे ताकि हम रायपुर शहर को पालीथिन मुक्त कर सके और पर्यावरण का संरक्षण कर सके। कार्यक्रम के दौरान आजाद चौक में पालीथिन से बने रावण का दहन किया गया। पालीथिन रूपी राक्षस को मारकर हम शहर को स्वच्छ कर सकते है। संस्था के सदस्यों द्वारा रैली के दौरान नगाडे बजाये एवं पालीथिन मुक्ति हेतू नारे लगाये गए। रैली में शामिल पार्षद सरिता आकाश दुबे का कहना है कि पालीथिन मुक्ति के लिये हम जब भी समान खरीदने बाजार जाये थैला लेकर जाये इससे सिंगल यूज प्लास्टिक बैग की उपयोगिता में कमी आएंगी।