देश

चीन ने LAC के पास बढ़ाई तैनाती, बड़ी संख्या में UAV,फाइटर जेट और टैंक मुस्तैद

नई दिल्ली
चीन अपनी चालबाजी से बाज नहीं आ रहा है। पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों के तनाव के बीच एक बार फिर चीन ने बड़ी संख्या में फाइटर जेट, यूएवी, टैंक और तोपों की तैनाती कर रहा है। रिपोर्ट की मानें तो चीन ने नगारी गुनसा एयरबेस पर भारी तादाद में लड़ाकू विमानों और यूएवी को उतार दिया है। ये इलाका पैंगोंग त्सो से करीब 100 किमी की दूरी है। इसके अलावा बड़ी संख्या में टैंक और आर्टिलरी को भी मुस्तैद कर रहा है।
 
इस बीच एलएसी के करीब चीन की तरफ से तैनात भारी मात्रा में युद्धक सामान भारत की चिंताएं बढ़ा रहा है। चीनी की इस हरकत से उनकी मंशा को लेकर एक बार फिर संदेह पैदा हो रहा है। इधर, भारतीय सेना के अनुसार वे सभी घटनाक्रमों पर बहुत बारीकी से नजर रखे हुए हैं और उन्होंने मिरर तैनाती भी की है। चीन की पीएलए वहां अपनी तैनाती बढ़ा रही है और भारतीय सेना भी अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ रही।
 
इससे पहले सीमा विवाद को समाप्त करने के लिए 10 अक्टूबर को भारत और चीन के बीच सैन्य वार्ता के परिणामस्वरूप कोई समाधान नहीं हुआ, क्योंकि चीनी भारतीय प्रतिनिधिमंडल द्वारा प्रदान किए गए "रचनात्मक सुझावों" से सहमत नहीं थी। भारत-चीन कोर कमांडर स्तर की बैठक का 13वां दौर 10 अक्टूबर, 2021 को चुशुल-मोल्दो सीमा बैठक बिंदु पर आयोजित किया गया था। बैठक के दौरान दोनों पक्षों के बीच चर्चा पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर शेष मुद्दों के समाधान पर केंद्रित रही। हालांकि कोई फैसला नहीं हुआ।

इधर, शनिवार को भारत वायुसेना प्रमुख वीआर चौधरी पूर्वी लद्दाख के दौरे पर हैं, जहां वो सेना और एयरफोर्स के जवानों के साथ बैठक लेंगे। वायु सेना प्रमुख इस बात को कई बार दोहरा चुके हैं कि चीन की तैयारियों को लेकर भारत भी पूरी तरह से मुस्तैद हैं। भारत हर तरह से मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार हैं।