भोपाल

सिटी फॉरेस्ट एरिया के प्लॉटों की नपती में देरी

भोपाल।  राजधानी में  बाघ भ्रमण क्षेत्र चंदनपुरा के फार्म हाउस और निजी प्लाटों की नपती का काम एक माह बीतने के बाद भी शुरू नहीं हो पाया है। यहां की  238.141 हेक्टेयर भूमि को संरक्षित वन क्षेत्र घोषित कर दिया है। इसमें छावनी गांव की 79.117 हेक्टेयर भूमि भी शामिल है। शासन ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है। यह राजस्व भूमि थी, जिसमें छोटे-बड़े झाड़ का जंगल है।  यहां रसूखदारों के प्लाट हैं। जिन पर होटल-रिजॉर्ट सहित अन्य व्यावसायिक ढांचे खड़े होने थे।

एनजीटी  के दखल से सुलझा मामला
सिटी फारेस्ट की जमीन के मामले में एनजीटी ने छह फरवरी 2020 को इस भूमि को संरक्षित वन घोषित करने के निर्देश दिए थे। एनजीटी ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक समिति का गठन करने को कहा था, जिसे क्षेत्र का दौरा कर वास्तुस्थिति बताना थी। समिति का गठन न होने पर एनजीटी ने दोबारा भी निर्देश जारी किए थे।