भोपाल

वैक्सीनेशन जिंदगी बचाने का अभियान है : अब कोई न छूटे – मुख्यमंत्री चौहान

भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों से अपील करते हुए कहा है कि वैक्सीनेशन जिंदगी बचाने का अभियान है। अभियान में सभी सहयोग दें और हमारा यह शत-प्रतिशत प्रयास हो कि "अब कोई न छूटे"। मुख्यमंत्री चौहान चौथे टीकाकरण महाअभियान-4 के लिए गुफा मंदिर स्थित मानस उद्यान के टीकाकरण केंद्र का अवलोकन कर रहे थे। मुख्यमंत्री चौहान ने वहाँ उपस्थित लोगों को संबोधित भी किया। गुना -सांसद के.पी. यादव तथा पूर्व महापौर आलोक शर्मा व अधिकारीगण उपस्थित थे।

दिसम्बर अंत तक सभी प्रदेशवासियों को दूसरी डोज लगाना है

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि अब तक प्रदेश की 86% पात्र जनसंख्या को वैक्सीन का प्रथम डोज लग चुका है। मध्य प्रदेश पहला डोज लगाने में देश में पहले नंबर पर है। यह जनप्रतिनिधियों, प्रशासनिक अमले, जनता के सहयोग के परिणाम-स्वरूप संभव हुआ है। प्रदेश में 26 सितंबर तक 6 करोड़ 11 लाख 23 हजार 864 कोरोना वैक्सीन के टीके लग चुके है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि दिसंबर अंत तक प्रदेश के सभी पात्र व्यक्तियों को वैक्सीन की दूसरी डोज़ लगाकर उनका जीवन सुरक्षित करना है।

भोपाल में सबको वैक्सीन का पहला डोज लग चुका है

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि भोपाल में सबको वैक्सीन का पहला डोज लगाया जा चुका है। भोपाल में जो भी पात्र व्यक्ति उपलब्ध रहे उन सबका टीकाकरण हो चुका है। जो व्य़क्ति किन्ही कारणों से भोपाल से बाहर थे, उनका टीकाकरण छूटा है। ऐसे शेष रहे पात्र व्यक्तियों का भी टीकाकरण सुनिश्चित किया जाएगा।

दिव्यांग, वरिष्ठजन, गर्भवती महिलाएँ भी अभियान में शामिल

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि वैक्सीनेशन के इस अभियान में दिव्यांग, वरिष्ठ-जन, महिलाओं का ध्यान रखा जा रहा है। प्रदेश में अब तक 2 लाख 57 हजार 506 गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन लगाई गई है। इसी प्रकार तीसरे जेंडर को भी 12 हज़ार 509 डोज वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

प्रधानमंत्री मोदी का मुख्यमंत्री चौहान ने माना आभार

मुख्यमंत्री चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार मानते हुए कहा कि उन्होंने प्रदेश में वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए वैक्सीन की कमी नहीं होने दी। इसके लिए प्रदेश उनका आभारी है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उपलब्ध कराई गई मुफ्त वैक्सीन के परिणामस्वरुप ही सभी गरीबों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित हो सका और उनकी जिंदगी बचाने की प्रतिबद्धता को पूरा किया जा सका।

कोई असमर्थता हो तो घर पर वैक्सीनेशन की सुविधा उपलब्ध कराई जाए

मुख्यमंत्री चौहान ने धर्मगुरुओं, जन-प्रतिनिधियों, क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी के सदस्यों, सामाजिक संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं से अपील की कि वे प्रदेश में शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने के लिए अपना शत-प्रतिशत प्रयास करें। वैक्सीन से शेष रहे लोगों को ढूंढ कर, उनसे आग्रह कर, उन्हें सेंटर पर बुलाकर या कोई असमर्थता हो तो उनके घर पर वैक्सीनेशन की सुविधा उपलब्ध कराकर प्रदेश में शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन सुनिश्चित किया जाए।

प्रत्येक व्यक्ति अपने परिवार व परिचितों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें

मुख्यमंत्री चौहान ने जनसामान्य से अपील की कि वे अपने मोहल्ले, पड़ोस, परिचितों, रिश्तेदारों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित करें। जो लोग अभी भी वैक्सीनेशन से वंचित हैं, उन्हें टीका लगवाने के लिए प्रेरित किया जाए और जिन लोगों का दूसरा डोज़ लगवाने का समय आ गया है वे अपना दूसरा डोज अवश्य लगवाएँ।

मुख्यमंत्री चौहान ने दिव्यांगजन और वरिष्ठ नागरिकों से कुशलक्षेम पूछी

मुख्यमंत्री चौहान ने टीकाकारण केन्द्र में टीकाकरण के लिए आए दिव्यांग कृष्णकुमार विश्वकर्मा, रूचि शर्मा और विनोद कुमार से कुशलक्षेम पूछी। टीकाकरण के लिए आईं श्रीमती सुनीता व श्रीमती निशा तथा 99 वर्षीय श्रीमती मोतिया बाई से भी मुख्यमंत्री चौहान ने बातचीत की। केन्द्र पर दिव्यांगजन, वरिष्ठ नागरिक तथा महिलाओं के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी।