उत्तरप्रदेश

योगी सरकार इसी महीने पौने दो करोड़ लोगों के खाते में डालेगी 1000 से ज्यादा रुपये

लखनऊ 
बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में नि:शुल्क यूनिफार्म, स्वेटर, स्कूल बैग व जूता-मोजा के लिए बेसिक शिक्षा विभाग प्रेरणा डीबीटी एप लांच करेगा। डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के लिए तैयारियां तेज कर दी गई हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सितम्बर में ही पहले चरण की धनराशि अभिभावकों के खाते में भेजने के निर्देश दिए हैं। 1056 रुपये की धनराशि डीबीटी से दी जाएगी। प्रदेश में 1.79 करोड़ विद्यार्थी प्राइमरी व जूनियर स्कूलों में  पंजीकृत हैं। विभागीय प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने आदेश जारी कर कहा है कि डीबीटी के लिए विभाग श्रीटान इण्डिया लिमिटेड के साथ करार करेगा। क्योंकि श्रीटान इण्डिया यूआईडीएआई के पोर्टल से आधार प्रमाणीकरण के लिए अधिकृत हैं। वहीं विभाग यूपी डेस्को से भी करार करेगा जो प्रेरणा पेार्टल व एप के संचालन के लिए डाटाबेस, डैशबोर्ड व पीएफएमएस पोर्टल के साथ इंटीग्रेशन करेगा। समय कम है लिहाजा तैयारियां तेज की जाएं। इस बीच सभी सरकारी व सहायता प्राप्त स्कूलों के विद्यार्थियों का पंजीकरण अनिवार्य रूप से प्रेरणा पेार्टल पर किया जाएगा। उनके माता-पिता या अभिभावक की बैंक पासबुक की छायाप्रति अनिवार्य रूप से प्राप्त की जाएगी। ये खाता आधार से लिंक होना चाहिए। डीबीटी के लिए अभिभावकों का आधार नंबर अनिवार्य है, बच्चों का आधार अनिवार्य नहीं होगा। सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को यह सुनिश्चित करना होगा कि डाटा शत प्रतिशत सही है। बिना आधार के खातों में धनराशि नहीं भेजी जा सकेगी। यह धनराशि पीएफएमएस पोर्टल से हस्तांतरित की जाएगी। मोबाइल एप के संचालन के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।