उत्तरप्रदेश

इनामी बदमाश बदन सिंह पुलिस एनकाउंटर में ढेर

आगरा 
पांच करोड़ की फिरौती के लिए डॉक्टर उमाकांत गुप्ता का अपहरण करने वाला एक लाख रुपये का इनामी बदमाश बदन सिंह बुधवार देर रात जगनेर क्षेत्र में पुलिस के हाथों मारा गया। मुठभेड़ में बदन सिंह और उसका एक साथी गँभीर रूप से जख्मी हुए थे। दोनों को इलाज के लिए एसएन भेजा गया। बदन सिंह को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। साथी का इलाज चल रहा है।उसकी हालत गंभीर है। उसकी पहचान नहीं हो सकी है।

ट्रांस यमुना कालोनी निवासी डा. उमाकांत गुप्ता का 13 जुलाई को बदमाशों ने अपहरण कर लिया था। बदमाश उन्हें धौलपुर के बीहड़ में रखा था। पांच करोड़ की फिरौती वसूलना चाहते थे। 14 जुलाई की रात पुलिस ने बीहड़ से डा. उमाकांत गुप्ता को मुक्त कराया था। दस्यु केशव गुर्जर के गुर्गे बदन सिंह ने वारदात को अंजाम दिया था। संध्या नाम की युवती ने डॉक्टर गुप्ता को हनी ट्रैफ किया था। पुलिस ने संध्या सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था। बदन सिंह पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। आईजी रेंज नवीन अरोरा ने बताया कि एसएसपी मुनिराज जी के नेतृत्व में बुधवार देर रात पुलिस की बदन सिंह और उसके साथी से मुठभेड़ हुई थी।

 एसएसपी मुनिराज ने बताया कि बदन सिंह और उसके साथी को जख्मी हालत में एसएन भेजा गया था। बदन सिंह की मौत हो गई। उसके साथी की हालत गंभीर बनी हुई है। रात करीब दो बजे बदन सिंह के साथी की पहचान अक्षय राठौर के रूप में हुई। बदन सिंह धौलपुर के थाना कंचनपुर के गांव अब्दुलपुर का निवासी था। वर्ष 2017 में हुए डॉक्टर निखिल बंसल अपहरणकांड में भी शामिल था।