छत्तीसगढ़ रायपुर

मृतक अंग प्रत्यारोपण की कार्यशाला में शामिल हुए स्वास्थ्य मंत्री

रायपुर
छत्तीसगढ़ में मृतक अंग प्रत्यारोपण की प्रक्रिया में स्वास्थ्य विभाग पूरी तत्परता से जुटा हुआ है। मानव अंग एवं ऊतक प्रत्यारोपण का अंगीकरण 1 जून 2017 को किया गया एवं राज्य प्राधिकरण समिति व राज्य सलाहकार समिति का पुनर्गठन 23 नवम्बर 2019 को कर इसका राजपत्र में प्रकाशन किया जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा मानव अंग एवं ऊतक प्रत्यारोपण नियम 2014 के अनुकूलून की कार्यवाही विधि विभाग में प्रक्रियाधीन है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ में सोटो की स्थापना के लिए उचित स्थल का चयन रायपुर मेडिकल कॉलेज में ही किया गया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जल्द ही राज्य स्तर पर अंगदान की उपलब्धता को पारदर्शी बनाने के राज्य संस्थान की भी स्थापना कर ली जाएगी इसके साथ ही छत्तीसगढ़ में सोटो की स्थापना व संचालन के लिए राज्य पर्यवेक्षक समिति का भी गठन किया जा चुका है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य का स्वास्थ्य विभाग रोटो का आभारी है कि वे अपनी टीम के साथ राजधानी आये हैं और हमारे राज्य के शासकीय व निजी अस्पतालों के अंगदान से जुड़े चिकित्सक, नर्स व ट्रांसप्लांट कोआॅर्डिनेटर को कार्यशाला के माध्यम से प्रशिक्षण दे रहे रहे हैं। इसके साथ ही राज्य पर्यवेक्षक समिति से समन्वय बनाकर सोटो और राज्य पंजीयन संस्थान में प्रदेश की मदद कर रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बुधवार को मेडिकल कॉलेज रायपुर में आयोजित मृतक अंग प्रत्यारोपण की कार्यशाला में शामिल हुए और उपस्थित चिकित्सकों, अधिकारियों एवं विद्यार्थियों को संबोधित किया।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने इस विषय पर कुछ महीनों पहले एक बैठक की थी जिसमें लिवर ट्रांसप्लांट अंग प्रत्यारोपण के कानूनों को जल्दी लागू करने पर विचार व्यक्त किए थे परंतु अंग प्रत्यारोपण जैसे बड़े और जटिल विषय में स्थितियों का अध्ययन और विधिक नियमों का पालन अनिवार्य है। जिन औपचारिकताओं को पूरा कर कानून विभाग से अनुमति मिलते ही इसे जल्द से जल्द लागू करने की दिशा में कार्य करेंगे। उन्होंने बताया कि 4 अस्पतालों में लाइव ट्रांसप्लांट की सुविधा उपलब्ध है एवं 4 अस्पतालों ने इस सुविधा के लिए आवेदन दिया हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि अंग प्रत्यारोपण की सुविधा लागू करने के लिए मॉरल मेडिकल और लीगल एंगल भी देखने आवश्यक हैं, जिन्हें पूरा कर हमें जल्द से जल्द छत्तीसगढ़ में अंग प्रत्यारोपण को सुचारु और सुलभ रूप से उपस्थित करवाना है जिससे कि प्रदेशवासियों को इस सुविधा के लिए भटकने की आवश्यकता ना रहे। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सभी उपस्थित सभी चिकित्सकों और अधिकारियों के प्रति शुभकामनाएं व्यक्त करते हुए उनका आभार व्यक्त किया एवं प्रश्नों व सुझावों के लिए आमंत्रित किया, इस अवसर पर मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ चिकित्सकों, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों समेत विधायक कुलदीप सिंह जुनेजा भी उपस्थित थे।