राजनीति

क्या प्रज्ञा ठाकुर को भी स्वीकार करेगी कांग्रेस-अरुण यादव

भोपाल
गोडसे के भक्त की एंट्री के बाद  कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं है। पार्टी के वरिष्ठ नेता और एमपी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव ने पूर्व सीएम कमलनाथ के फैसले के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस का एक तबका कमलनाथ के साथ है। साथ ही गोडसे भक्त की एंट्री पर कमलनाथ का बचाव कर रहे हैं। अरुण यादव इस फैसले के विरोध में खुलकर आ गए हैं। साथ ही पार्टी नेताओं से पूछा है कि हम सभी इस पर चुप क्यों हैं।

अरुण यादव ने अपने पत्र में लिखा है कि मैं आरएसएस विचारधारा को लेकर लाभ हानि की चिंता किए बगैर जबानी जंग नहीं, सड़कों पर लड़ता हूं। मेरी आवाज कांग्रेस और गांधी विचारधार को समर्पित एक सच्चे कांग्रेस कार्यकर्ता की आवाज है। जिस पर संघ कार्यालय में कभी तिरंगा नहीं लगता है, वहां इंदौर के संघ कार्यालय पर कार्यकर्ताओं के साथ जाकर मैंने तिरंगा फहराया। देश के सारे बड़े नेता कहते हैं कि देश का पहला आतंकवादी नाथूराम गोडसे था। आज गोडसे की पूजा करने वाले की कांग्रेस में प्रवेश को लेकर वे सब खामोश क्यों हैं?

प्रज्ञा ठाकुर को स्वीकार कर लेगी कांग्रेस
उन्होंने कहा कि यदि यही स्थिति रही तो आतंकवाद से जुड़ी भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर, जिसने गोडसे को देशभक्त बताया है, जिसे लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि मैं प्रज्ञा ठाकुर को जिंदगी भर माफ नहीं कर सकता हूं। यदि वो भविष्य में कांग्रेस में प्रवेश करेगी तो क्या कांग्रेस उसे स्वीकार करेगी।