देश

अमेरिका का विश्वसनीय रक्षा साझेदार बना भारत

बेंगलुरु
बेंगलुरु में आज (बुधवार) से एयर शो इंडिया की शुरूआत हो रही है। पूरा एशिया का ये सबसे बड़ा शो 3 फरवरी से 5 फरवरी तक चलेगा। इस साल के शो में अमेरिका के प्रमुख विमानों में से एक B-1 लांसर आर्कषण का केंद्र रहेगा। दुनिया के सबसे खतरनाक बॉम्‍बर विमानों में से एक बी 1 लांसर शो के दौरान फ्लाई बाय करेगा। आपको बता दें कि यह पहली बार है जब बी 1 लांसर एयरो इंडिया शो में भाग लेगा। इस बात की जानकारी अमेरिकी दूतावास ने दिल्‍ली में एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर दी।

विदेश मामलों के अधिकारी डॉन हेफ्लिन ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि एयरो शो में अमेरिका की उपस्थिति रक्षा साझेदारी का स्‍पष्‍ट संदेश है। उन्‍होंने आगे कहा कि अमेरिका भारत का एक विश्वसनीय रक्षा साझेदार है और भारत भारत-प्रशांत क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उन्‍होंने आगे कहा कि यह सभी देशों की समृद्धि और सुरक्षा को बढ़ावा देता है। हेफ्लिन ने कहा कि एयरो इंडिया में यूएस-भारत के बीच रक्षा सहयोग को मजबूत करने के लिए हमारी निरंतर प्रतिबद्धता को दर्शाता है। अमेरिकी भागीदारी एयरो इंडिया 2021 में अमेरिकी उद्योग और अमेरिकी सैन्य सेवाओं को मजबूत करने का अवसर प्रदान करती है। दोनों देश की सेनाएं इंडो-पैसिफिक में एक नियम-आधारित अंतर्राष्ट्रीय आदेश को बनाए रखने के लिए एक साथ काम करती हैं।

उन्‍होंने कहा अमेरिका ने भारत के साथ अपने रक्षा सहयोग की सीमा और गहराई में काफी विस्तार किया है और यह एक प्रगति है जो कई वर्षों से कई प्रशासनों में कई मुद्दों पर रणनीतिक अभिसरण को दर्शाता है। अंतर्राष्ट्रीय मामलों के लिए अमेरिकी वायु सेना के उप-अवर सचिव केली एल सेबोल्ट ने कहा कि एयरो इंडिया में अमेरिका की उपस्थिति रणनीतिक महत्व को रेखांकित करती है और दोनों देशों के बीच बढ़ती रक्षा साझेदारी पर हमारा महत्व है। उन्‍होंने ये भी कहा कि हमारा संबंध सामान्य हित और स्वतंत्र और खुले इंडो-पैसिफिक की एक सामान्य दृष्टि पर है।। सेबोल्ट ने यह भी कहा कि अमेरिका ने भारत के साथ संबंधों की गहराई को बढ़ाया है। हम रक्षा प्लेटफार्मों और अभ्यासों के माध्यम से संबंधों को गहरा कर रहे हैं। हम अपने रक्षा समझौतों का दायरा बढ़ा रहे हैं।

संयुक्त राज्य अमेरिका की उत्तरी कमान के अलास्का कमांडर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डेविड ए क्रुम ने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच संबंधों की ताकत बढ़ी है। हम COVID-19 के प्रभावों के बावजूद संपन्न हुए हैं। हम नई पहल करने में सक्षम हैं। उन्होंने आगे कहा 'भारत के साथ संबंध अमेरिका के सबसे महत्वपूर्ण कामों में से एक है।' आपको बता दें कि अग्रणी अमेरिकी रक्षा कंपनियां भी एयरो इंडिया 2021 में भाग ले रही हैं। जिसमें एयरोस्पेस क्वालिटी रिसर्च एंड डेवलपमेंट एलएलसी, एयरबोर्न इंक।, बोइंग, IEH कॉर्पोरेशन, GE एविएशन, जनरल एटॉमिक्स, हाई-टेक इंपोर्ट एक्सपोर्ट कॉर्पोरेशन, एल3हैरिस, Laversab India, लॉकहीट मार्टिन, Raytheon और Trakka Systems शामिल हैं।