देश

CCTV फुटेज दिखा दिल्ली पुलिस ने कहा ट्रैक्टर पलटने से हुई किसान की मौत

नई दिल्ली
कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के ट्रैक्टर परेड के दौरान दिल्ली के आईटीओ में एक किसान की मौत हो गई। किसानों का आरोप है कि पुलिस की ओर से चलाई गई गोली में किसान की मौत हुई है। वहीं पुलिस का कहना है कि किसान काफी तेज स्पीड में ट्रैक्टर चला रहा था, जिसकी वजह से ट्रैक्टर पलट गया और उसकी मौत हो गई। किसान की मौत के बाद प्रदर्शनकारी और उग्र हो गए, जिससे इलाके में माहौल तनावपूर्ण हो गया। मृत किसान की पहचान नवनीत सिंह के रूप में हुई है। वह उत्तराखंड के रुद्रपुर के रहने वाले हैं। तीस साल के नवनीत मंगलवार को किसान संगठनों द्वारा आहूत ट्रैक्टर परेड में हिस्सा ले रहे थे। दिल्ली आईटीओ के सामने ट्रैक्टर पलटने से उनकी मौत हो गई। बताया गया कि एक साल पहले ही नवनीत की शादी हुई थी। हालांकि, किसान प्रदर्शनकारियों ने दावा किया है कि नवनीत की मौत ट्रैक्टर पलटने से नहीं बल्कि पुलिस की गोली से हुई है। किसान की मौत के बाद इलाके में माहौल तनावपूर्ण हो गया।

किसानों ने नवनीत का शव आईटीओ चौक पर रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया और कथित तौर पर गोली चलाने वाले पुलिसकर्मी पर कार्रवाई करने की मांग की। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने बताया कि किसान की मौत ट्रैक्टर पलटने से हुई है न कि पुलिस की गोली से। बता दें कि किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान एनसीआर इलाके में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच कई स्थानों पर झड़प हुई। इस दौरान पुलिस ने किसान प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज भी की और आंसू गैस के गोले छोड़े।