देश

बाबर ने क्यों तोड़ा राम मंदिर, बताया केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने

नई दिल्ली
अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है। इसी बीच केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि बाबर को पता था कि इस देश के प्राण राम मंदिर में है, इसलिए इसे तोड़ा गया। जावड़ेकर ने ये बातें दिल्ली में एक कार्यक्रम में कहीं। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, 'देश में लाखों मंदिर हैं, लेकिन जब विदेशी आक्रमणकारी आए, बाबर आए, तो उन्होंने राम मंदिर को ही क्यों तोड़ा? क्योंकि उन्हें समझ आ गया था कि इस देश के प्राण अगर कहीं है तो राम मंदिर में है। राम मंदिर पर आक्रमण करके एक विवादित ढांचा बनाया, जहां इबादत नहीं होती वो मस्जिद नहीं होती।' गौरतलब है कि मुगल बादशाह बाबर के सिपहसालार मीर बाकी ने अयोध्या में विवादित जगह (राम जन्मभूमि होने का दावा वाली जगह) पर एक मस्जिद का निर्माण कराया, इसे बाबरी मस्जिद कहा गया। हिंदू समुदाय का दावा है कि यह जगह भगवान राम की जन्मभूमि है और यहां एक प्राचीन मंदिर था। हिंदू पक्ष के मुताबिक मुख्य गुंबद के नीचे ही भगवान राम का जन्मस्थान था। बाबरी मस्जिद में तीन गुंबदें थीं। बाबरी मस्जिद को 6 दिसंबर 1992 को एक उन्मादी भीड़ ने गिरा दिया था। पिछले साल अगस्त में ही अयोध्या में राम जन्मभूमि के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था, जिसके बाद मंदिर निर्माण का काम शुरू हुआ है।