राजनीति

विधायक सज्जन वर्मा के बयान पर राष्ट्रीय बाल आयोग सख्त

भोपाल
.कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा  मुश्किल में पड़ सकते हैं. पुलिस उन पर कार्रवाई कर सकती है.लड़कियों की शादी की उम्र के संबंध में दिए आपत्तिजनक बयान पर वर्मा बुरी तरह फंस गए हैं. राष्ट्रीय बाल आयोग ने इस मामले में डीजीपी (DGP) को पत्र लिखकर उन पर कार्रवाई करने के लिए कहा है.

कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने हाल ही में लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने पर छिड़ी बहस के बीच एक आपत्ति जनक बयान दिया था. इस पर सबकी तीखी प्रतिक्रिया हुई.राष्ट्रीय बाल आयोग ने इसे बेहद गंभीरता से लिया और वर्मा से 2 दिन में जवाब मांगा था.लेकिन वर्मा ने इस पर आयोग को कोई अपना जवाब नहीं दिया. यही कारण है कि अब आयोग ने सीधे डीजीपी को पत्र लिखकर वर्मा पर कार्रवाई करने के लिए कहा है.

UN गाइड लाइन का उल्लंघन
लड़कियों की शादी की उम्र पर दिए आपत्तिजनक बयान पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने 2 दिन में जवाब मांगा था. आयोग के नोटिस के बाद भी वर्मा ने किसी तरीके का अपना जवाब नहीं दिया. इस पर आयोग ने वर्मा के बयान को अधिकारों का उल्लंघन मानते हुए DGP को वर्मा पर कार्रवाई करने की सिफारिश की है. DGP को लिखे पत्र में आयोग ने कहा है कि सार्वजनिक रूप से दिया गया बयान गंभीर विषय है. बयान देने वाले विधानसभा के सदस्य  हैं.इस विषय में उचित कार्रवाई की जाए.आयोग के नोटिस पर दो दिन में जवाब नहीं देने के मामले को आयोग ने यूनाइटेड नेशंस के बाल अधिकार मामलों की गाइड लाइन का उल्लंघन माना है.