देश

राजस्थान: 90 फीसदी बेरोजगारों ने कराया भत्ते का रिन्यूअल, जानें वेटिंग कहां तक पहुंची

जयपुर
राजस्थान के मुख्यमंत्री युवा संबल योजना के तहत फिलहाल 1,59,113 बेरोजगारों को भत्ता मिल रहा है। वहीं वेटिंग में 2,05,175 बेरोजगार शामिल है, जो कि वेरिफाइड हैं। वहीं, सूबे में अनवेरीफाइड आवेदनों की संख्या करीब 18 हजार है। साथ ही कोरोना काल के दौरान भत्ता ले रहे हैं बेरोजगारों में से करीब 90 फीसदी लोगों ने भत्ता रिन्यूअल कराया है। जिसकी वजह से पहली बार वेटिंग 2 लाख के पार पहुंच गई है।  गौरतलब है कि, सूबे में 1.60 लाख बेरोजगारों को ही भत्ता देने की लिमिट है। पिछले साल 2019 की बात करें तो तब वेरिफाइड आवेदनों की वेटिंग 1 लाख से कम थी। लेकिन कोरोना काल के दौरान 2020 में बेरोजगारों के रजिस्ट्रेशन ज्यादा हुए और पुराने में से 90% ने रिन्युअल कराया। जबकि पिछले साल 50 % के आसपास ही रिन्युअल कराया था। वित्तीय वर्ष में दिसंबर तक 420 करोड़ बांटे गए हैं।

2019 में 1.56 और 2020 में 1.59 लाभान्वित हैं। राज्य के बेरोजगार 2 साल तक भत्ता ले सकते हैं। लेकिन एक साल में रिन्यूअल करवाना जरूरी है। ऐसे में अब जुलाई में 80 हजार से ज्यादा नए बेरोजगारों को भत्ता लेने का मौका मिलेगा। क्योंकि जुलाई 2019 में बड़ी संख्या में भत्ता मिलना शुरू हुआ था। आपको बता दें कि, प्रदेश में महिला व निशक्तजनों को 3500 रुपए तो वहीं पुरुषों को 3 हजार रुपये भत्ते के रूप में मिलते हैं।

Related Articles

Close