देश

दुष्यंत चौटाला किसान आंदोलन के दबाव में! पार्टी बचाने के लिए NDA से बना सकते हैं दूरी, PM मोदी से की मुलाकात

नई दिल्ली 
केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में किसानों की ओर से किए जा रहे प्रदर्शन के चलते हरियाणा की भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार की दिक्कतें बढ़ने लगी हैं। जजपा नेता व उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर उन्हें सारी स्थिति से अवगत कराया है। इसके पहले मंगलवार को चौटाला ने अपने विधायकों से चर्चा करने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल व अन्य प्रमुख नेताओं के साथ गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। किसान आंदोलन की आंच हरियाणा की मनोहर लाल सरकार तक पंहुचने लगी है। सरकार में भाजपा की सहयोगी जजपा इस मुद्दे पर दोफाड़ है और उसके आधे से ज्यादा विधायक आंदोलन के साथ हैं। इससे परेशान चौटाला इसका जल्द से जल्द समाधान चाहते हैं। कांग्रेस भी किसान आंदोलन को लेकर दबाव बना रही है जिससे जजपा के विधायकों के टूटने का भी खतरा है। ऐसे में दुष्यंत ने पहले मुख्यमंत्री के साथ मिलकर अमित शाह को सारी स्थिति से अवगत कराया और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी बात की है। सूत्रों के अनुसार अगर आन्दोलन का जल्द कोई रास्ता नहीं निकलता है, तो दुष्यंत अपनी पार्टी को बचाने के लिए राजग से नाता भी तोड़ सकते हैं। जजपा के 10 विधायक है जिसमें सात किसानों के मुददों के साथ हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की मुलाकात लगभग एक घंटे चली। बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री सीधे चंडीगढ़ के लिए रवाना हो गए। गौरतलब है कि शाह के साथ बैठक के बाद दुष्यंत चौटाला ने कहा था कि भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं है और यह सरकार पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करेगी।
 

Related Articles

Close