देश

स्क्रीनिंग बिना होटल में कमरा नहीं, मकर संक्रांति स्नान पर कोरोना रिपोर्ट की पाबंदी हटी

 देहरादून 
यात्रियों से प्रशासन की यही अपेक्षा है कि वे कोरोना जांच रिपोर्ट साथ लेकर आएं। उधर, स्वास्थ्य विभाग ने बॉर्डर पर रैंडम जांच के इंतजाम भी कर लिए हैं। थर्मल स्क्रीनिंग में यदि कोई संदिग्ध पाया जाता है तो रैंडम कोरोना जांच की जाएगी। शहर में मकर संक्रांति के स्नान को लेकर पुलिस-प्रशासन ने तैयारी पूरी कर ली है। इस दिन बॉर्डर पर थर्मल स्क्रीनिंग होगी। किसी को भी जबरन रोका नहीं जाएगा। गुरुवार को कुंभ का पहला पर्व स्नान होगा। इसलिए जिला प्रशासन ने हरिद्वार आने वाले लोगों के लिए एसओपी जारी की है। श्रद्धालुओं से केवल यह अपील की गई है कि वे पांच दिन के अंदर कराए गए आरटी-पीसीआर परीक्षण की रिपोर्ट लेकर आएं। हालांकि, रिपोर्ट नहीं लाने वाले लोगों को भी हरिद्वार में प्रवेश करने दिया जाएगा। लेकिन, बॉर्डर पर थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी होगी।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से नारसन, भगवानपुर, काली नदी, चिड़ियापुर और सप्तऋषि समेत कई सीमाओं पर स्वास्थ्य कर्मचारियों की ड्यूटी लगा दी गई है। डीएम सी. रविशंकर ने बाजार और गंगा घाटों पर लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की अपील की है। साथ ही प्रशासन ने होटल, धर्मशाला, लॉज संचालकों से बिना स्क्रीनिंग किसी को कमरा न देने के आदेश दे दिए हैं। उधर, एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस. ने हरिद्वार की सीमाओं पर अतिरिक्त फोर्स तैनात कर दी है। उन्होंने बताया कि प्रशासन के आदेशों का पालन कराया जाएगा। बुधवार दोपहर से इस प्लान को लागू कर दिया जाएगा और स्नान की समाप्ति तक प्लान लागू रहेगा। बुधवार से ही भारी वाहनों की एंट्री पर रोक लगा दी जाएगी। आवश्यक सेवाएं जैसे- दूध, तेल, गैस आदि के ट्रक-टैंकर पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा।

आईजी मेला संजय गुंज्याल ने बताया कि दिल्ली, मेरठ, मुजफ्फरनगर और सहारनपुर से आने वाले वाहनों को मंगलौर बस अड्डे से डायवर्ट कर लंढौरा लक्सर से जगजीतपुर तिरछी पुलिया डायवर्जन से दक्षद्वीप होते हुए बैरागी पार्किंग में पार्क कराया जाएगा। अधिक भीड़ होने पर सहारनपुर से आने वाले वाहनों को रुड़की, धनौरी, पथरी रोह पुल से सलेमपुर (पथरी पावर हाउस) होते हुए सिड़कुल चौराहे से होते हुए हिन्दुस्तान लीवर के पास बने चौराहे से चिन्मय डिग्री कालेज, शिवालिक नगर चौक होते हुए मध्य मार्ग से धीरवाली पार्किंग स्थल पर पार्क किया जायेगा। हरिद्वार में वाहनों का दबाव अधिक होने की स्थिति में दिल्ली की तरफ से देहरादून जाने वाले वाहनों को रुड़की से ही भगवानपुर, छुटमलपुर से दून की तरफ भेजा जाएगा।

इन वाहनों की वापसी श्रीयंत्र टापू पुल से बूढी माता तिराहे से सिंहद्वार चौक से रुड़की हाईवे से की जाएगी। कोशिश रहेगी कि शहर के अंदर वाहन प्रवेश न कर सकें, जबकि हल्के वाहनों को बैरागी कैंप से होते हुए चमगादड़टापू मैदान पर पार्क कराया जाएगा। इस पार्किग स्थल के भर जाने पर इस मार्ग से आने वाले वाहन पंडित दीन दयाल उपाध्याय पार्किंग में पार्क किये जाएंगे। नजीबाबाद की ओर से आने वाले वाहनों को (विभिन्न राज्यों की रोडवेज बसों को छोड़कर) जिन्हें हरिद्वार रुकना है, वे नीलधारा में बने पार्किग स्थल पर पार्क किए जाएंगे। 

इस पार्किग के भर जाने पर इन वाहनों को गौरी शंकर पार्किग स्थल पर पार्क कराया जाएगा। जीएमओयू एवं टीजीएमओयू की बसें नीलधारा में इनके लिए बने बस अडडे से ही संचालित होंगी। जबकि विभिन्न राज्य परिवहन की बसें चंडीघाट पुल पार कर दिल्ली बाईपास होते हुये ऋषिकुल नया पुल पार कर रोडवेज व अंतरराज्यीय बस अडडे पर पार्क होंगी।  इन वाहनों की वापसी ऋषिकुल नया पुल से बाएं मुड़कर इसी मार्ग से होंगी। इस मार्ग से आने वाले समस्त छोटे वाहन चमगादड टापू पार्किंग पर पार्क कराए जांएगे। देहरादून, ऋषिकेश की ओर से आने छोटे चारपहिया वाहन मोतीचूर, पावन धाम स्थित पार्किंग एवं चमगादड़ टापू में पार्क किये जाएंगे। इनको भूपतवाला से आगे नहीं आने दिया जाएगा। जबकि विभिन्न राज्य परिवहन की बसों को रोडवेज बस अड्डे में पार्क करायी जाएंगी।

Tags

Related Articles

Close