भोपाल

ज्योतिरादित्य आए भोपाल, मेल-मुलाकातों के बाद सीएम के साथ जाएंगे दिल्ली

भोपाल
राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुलाकात कर रहे हैं। चूंकि सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए नेताओं को संगठन में जिम्मेदारी नहीं मिली है इसलिए उपचुनाव में जीत के बाद मंत्रिमंडल विस्तार की सुगबुगाहट के बीच इस मुलाकात को अहम माना जा रहा है।

प्रदेश में सत्ता और संगठन में अपने साथ कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए नेताओं की भागीदार सुनिश्चित करवाने के साथ ही उपचुनाव में किए गए वादों को पूरा कराने की अपेक्षाओं के बीच आज राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात कर रहे हैं। भाजपा में इस मुलाकात को खास महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इस मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को दिल्ली जाएंगे। जहां पर वे प्रदेश का फीडबैक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देंगे। हालांकि सिंधिया ने कहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और आलाकमान ही फैसला करेंगे। मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर उनकी चर्चा नहीं होगी।

ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए नेताओं को अब तक संगठन में कोई जिम्मेदारी नहीं दी गई है। संगठन में इन लोगों की भूमिका सुनिश्चित करने के लिए भी सिंधिया आज मुख्यमंत्री से बात करेंगे। सिंधिया के साथ ग्वालियर-चंबल के अलावा मालवा क्षेत्र के कई नेता भाजपा में शामिल हुए थे। इन्हें संगठन में लिए जाने की उम्मीद है। सिंधिया करीब दो दर्जन लोगों को संगठन में लिए जाने को लेकर बातचीत कर सकते हैं।

शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल से दिल्ली तक साथ में ही जाएंगे। दिल्ली में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से शिवराज सिंह चौहान की मुलाकात होगी। इससे पहले शिवराज सिंह चौहान और सिंधिया भोपाल से साथ में ओरछा जाएंगे। वहां से दोनों साथ में ही दिल्ली जाएंगे। प्रधानमंत्री से स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट के अलावा सत्ता और संगठन को लेकर भी मुख्यमंत्री की बातचीत हो सकती है।

सिंधिया के बयान के बाद भी यह माना जा रहा है कि  इस मुलाकात में मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर चर्चा होना है। जिसमें भाजपा विधायक गोविंद सिंह राजपूत और तुलसी सिलावट को वापस से मंत्रिमंडल में शामिल करने की बात होगी। साथ ही इन दोनों को पूर्व में मिले विभाग ही दिए जाने की बात होगी। वहीं इमरती देवी, गिर्राज दंडोतिया और ऐंदल सिंह कंसाना को निगम मंडल में एडजस्ट करने को लेकर भी चर्चा की जाएगी।

दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर सिंधिया ने कहा कि कुछ लोग किसानों को गुमराह कर रहे हैं। तीनों ही बिल किसानों के हित में हैं। भाजपा के राष्टÑीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, अमित शाह का मंत्र किसान हित में ही है। पहले कृषि के क्षेत्र में कुछ पाबंदियां लगी थी। उन जंजीरों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तोड़ दिया है। आने वाले समय ही बताएगा कि जो क्रांति कृषि क्षेत्र में नरेंद्र मोदी के द्वारा लाई गई है। उसका कितना फायदा किसानों को मिलता है। उन्होंने भिंड जिला कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री डॉ. गोंविद सिंह से जान का खतरा होने की शिकायत पर कहा कि यह तो असलीयत है कांग्रेस का जो अंदर का खेल है वह बाहर आ रहा है।

Tags

Related Articles

Close