छत्तीसगढ़रायपुर

जापानी इंसेफेलाइटिस टीका लगवाने लगी पालकों- बच्चों की भीड़, स्कूल में मेले सा नजारा

धमतरी। जिले में मच्छर की बीमारी से बचाव के लिए जापानी इंसेफेलाइटिस टीका जिले में 23 नवंबर से लगाया जा रहा है। इसके तहत तिथिवार अलग-अलग स्कूलों में टीकाकरण के लिए दिन घोषित किया गया है। 27 नवंबर को सेंट मेरी इंग्लिश मीडियम हाई स्कूल में टीकाकरण किया जा रहा है। जानकारी के बाद बड़ी संख्या में स्कूल पहुंचे पालक बच्चों को टीका लगवा रहे हैं। स्कूल में टीकाकरण के लिए स्कूली बच्चों और पालकों की भीड़ लगी हुई है। यहां मेले सा-माहौल है।
सीएमओ डा डीके तुर्रे ने बताया कि इस अभियान में एक साल से 15 साल तक की उम्र के दो लाख 57 हजार 160 बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा। आंगनबाड़ी आने वाले छ: साल तक के सभी बच्चों का टीकाकरण किया जा रहा है। स्कूलों में आने वाले छ: साल से 15 साल तक के सभी बच्चों का टीकाकरण किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में यह अभियान धमतरी सहित बस्तर, बीजापुर, दंतेवाड़ा और कोंडागांव जिले में चलाया जा रहा है। इस अभियान में एएनएम, मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकतार्ओं और स्कूल के शिक्षक अपनी सहभागिता निभा रहे हैं। जिले में 18 दिसंबर तक जापानी इंसेफेलाइटिस टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा।

यह एक प्रकार का संक्रामक रोग है जो एशिया और पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में पाया जाता है। ज्यादातर बच्चे इस बीमारी का शिकार होते हैं। इसमें दिमाग में सूजन आ जाती है। यह संक्रमित मच्छरों से फैलने वाला विषाणु है। यह ग्रामीण और कृषि क्षेत्रों में ज्यादा होता है। हालांकि इससे जुड़े अधिकांश मामले गंभीर नहीं होते हैं, लेकिन फिर भी यह जानलेवा हो सकता है। इस बीमारी की शुरूआत में अचानक सिर दर्द, तेज बुखार और भटकाव के साथ मस्तिष्क में सूजन आ जाती है।

Related Articles

Close