छत्तीसगढ़रायपुर

किसानों को रबी फसल लगाने के लिये प्रोत्साहित करें-कलेक्टर

रायगढ़
कलेक्टर भीम सिंह ने मंगलवार को कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में टी.एल.(समय-सीमा)की बैठक लेकर जिला स्तरीय विभागीय कार्यों और विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले के किसानों को रबी फसल लगाने के लिये प्रोत्साहित करें और किसानों की आवश्यकता के अनुरूप रबी फसल के लिये बीज और खाद उपलब्ध करावें।

राज्य शासन द्वारा प्रत्येक ग्राम पंचायत में गौठान और चारागाह विकसित करने का उद्देश्य किसानों की फसल का पशुओं से सुरक्षा प्रदान करना है अब जिले के किसानों को रबी फसल फसल लगाने पर पशुओं से हानि नहीं होगी। कलेक्टर सिंह ने जिले के सभी गौठानों में गोबर खरीदी की मात्रा और तैयार वर्मी कंपोस्ट की मात्रा का तुलनात्मक औसत वितरण तैयार कर पंजी संधारित करने के निर्देश दिये और गौठानों मेंं गोबर खरीदी में व्यय राशि तथा वर्मी कंपोस्ट बिक्री से प्राप्त होने वाली राशि का ब्यौरा भी संधारित करने को कहा, जिससे गोठान को आत्मनिर्भर बनाया जा सकेगा। उन्होंने गौठानों में उपलब्ध वर्मी खाद की जानकारी गांव-गांव में मुनादी के माध्यम से किसानों तक पहुंचाने के निर्देश दिये जिससे किसान अपनी आवश्यकता के अनुसार वर्मी खाद प्राप्त कर सकेंगे। जिले के प्रत्येक गोठान में आगामी 6 माह के लिये सूखा चारा उपलब्ध कराने के लिये पैरादान कराने किसानों से अधिक से अधिक मात्रा में पैरा एकत्रित करने के निर्देश दिये। कलेक्टर सिंह ने कहा कि 1 दिसम्बर 2020 से प्रारंभ होने वाली धान खरीदी के दौरान जिले के किसी भी किसान को कठिनाई नहीं होगी और धान खरीदी केन्द्रों की सभी आवश्यक व्यवस्था 30 नवम्बर 2020 से पहले पूरा कर लिये जाये। उन्होंने उप पंजीयक सहकारी समिति को निर्देशित किया कि धान खरीदी के दौरान समितियों के कामकाज पर निगरानी रखे जिससे समिति में अनियमितता न हो सके।

कलेक्टर सिंह ने मुख्यमंत्री जनचौपाल में प्राप्त आवेदनों का निराकरण दो माह के भीतर किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने लंबित आवेदनों में की गई कार्यवाही की कारण सहित जानकारी आवेदक को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने जिले में निर्धारित क्षमता से अधिक भार लेकर चलने वाले माल वाहक वाहनों के विरूद्ध निरंतर जांच और जुमार्ना की कार्यवाही जारी रखने के लिये खनिज विभाग और परिवहन अधिकारी को निर्देशित किया। कलेक्टर सिंह ने कहा कि जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि को देखते हुये शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मास्क नहीं पहनने वालों के विरूद्ध सघन चेकिंग अभियान जारी रखा जाये। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को मास्क पहनने तथा कोरोना संक्रमण से बचाव के नियमों का कड़ाई से पालन कराने के लिये एसडीएम और तहसीलदार एवं जनपद सीईओ को निर्देशित किया। कलेक्टर सिंह ने रायगढ़ निगम क्षेत्र में अलग वार्डो की सफाई व्यवस्था निरीक्षण के लिये नियुक्त शासकीय अधिकारियों को वार्ड की सफाई व्यवस्था का अवलोकन कर फोटो खीचकर जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि निगम क्षेत्र में सफाई अभियान लगातार जारी रहेगा।

कलेक्टर सिंह ने अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालित किये जाने वाले चिन्हांकित भवन के मरम्मत की प्रगति और जिले के गोढ़ी और छाल में निमार्णाधीन आदर्श छात्रावास भवन की तैयारियों की भी जानकारी ली। उन्होंने जिले के सभी विभागों में स्वीकृत भवनों का लोकार्पण और भूमिपूजन संबंधित कार्यों की जानकारी निर्धारित प्रपत्र में तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने लीड बैंक प्रबंधक से केसीसी (किसान क्रेडिट कार्ड) बनाये जाने हेतु लंबित प्रकरणों की जानकारी ली, लीड बैंक प्रबंधक ने कलेक्टर सिंह को बताया कि पिछले वर्ष 2019 में खरीफ फसल के लिये 269 करोड़ रुपये का ऋण वितरित किया गया था। वर्तमान वर्ष 2020 में खरीफ फसल के लिये जिले के किसानों के 306 करोड़ रुपये का ऋण वितरित किया गया है। टी.एल.(समय-सीमा)की बैठक के दौरान एडीएम राजेन्द्र कुमार कटारा, सहायक कलेक्टर चंद्रकांत वर्मा सहित सभी विभागों के जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे। जिला पंचायत सीईओ, जिले के सभी एसडीएम, तहसीलदार और जनपद सीईओ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में जुड़े रहे।

Related Articles

Close