देश

कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने चार शहरों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान 

अहमदाबाद  
कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कुछ कड़े फैसले किए हैं. राज्य में बिना मास्क के पाए जाने पर 1000 रुपये जुर्माना लगाया जाएगा. चार शहरों में रात्रि कर्फ्यू की घोषणा की गई है. सीएम ने जनता से अपील की है कि नियमों का पालन करें और मास्क जरूर लगाएं. 

जनता को संबोधित करते हुए सीएम विजय रूपाणी ने कहा कि अहमदाबाद, राजकोट, सूरत और वडोदरा में सोमवार रात  9 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक अनिश्चितकालीन कर्फ्यू रहेगा. एहतियात के तौर पर ये कदम उठाए गए हैं. सरकार के पास कोरोना से निपटने का पुख्ता बंदोबस्त है, जनता को बस नियमों का पालन करना है. रविवार को सीएम ने कोरोना के मद्देनजर हाईलेवल मीटिंग की थी. 

इधर, नाइट कर्फ्यू पर बात करते हुए डिप्टी मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि कुछ सावधानियां बरतनी बहुत जरूरी हैं क्योंकि पूरी दुनिया आज कोरोना महामारी से जूझ रही है, जिसके तहत राज्य सरकार ने अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट जो चार बड़े शहर हैं उसमें नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है. इस फैसले से नागरिकों को भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है. राज्य सरकार का आरोग्य विभाग पूरी तरह से नागरिकों को सुविधाएं प्रदान करने के लिए तैयार है.

सरकारी अस्पतालों में कोरोना के मरीजों के लिए पर्याप्त बेड नहीं होने की बात पर उपमुख्यमंत्री पटेल ने कहा कि सोशल मीडिया पर ऐसा माहौल बनाया गया है कि सरकारी अस्पतालों में कोरोना संक्रमित रोगियों के लिए पर्याप्त बेड नहीं हैं, जो कि पूरी तरह से आधारहीन बात है.

खाली बेड के आंकड़े देते हुए, नितिन पटेल ने कहा कि अहमदाबाद सिविल अस्पताल को स्पेशल कोविड केयर सेंटर के रूप में घोषित किया गया है. इस 1,200 बेड के अस्पताल में लगभग 60 आईसीयू की व्यवस्था के साथ हाल में खाली है. साथ ही में इस अस्पताल में 120 और बेड जोड़ने के निर्देश दिए गए थे, जिनमें से काम पूरा होने वाला है. इसका मतलब यह है कि अहमदाबाद सिविल अस्पताल में 1,200 बेड के अतिरिक्त 120 बेड सहित अब 1,320 बेड उपलब्ध होंगे.

Related Articles

Close