देश

DDC के चुनाव में अर्धसैनिक बलों की 49 अतिरिक्त बटालियन

  जम्मू
जम्‍मू-कश्‍मीर में डीडीसी चुनावों में सुरक्षा को लेकर कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। अब गृह मंत्रालय ने प्रदेश में चुनावों के लिए अर्धसैनिक बलों की 49 अतिरिक्त बटालियनों को भेजा है। प्रदेश की तरफ से चुनावों के लिए बटालियनों की मांग की गई थी। कई राज्यों में तैनात बटालियनों को जम्मू-कश्मीर में जाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। बताया गया है कि जिन अतिरिक्त बटालियनों को भेजा गया है, उनमें अधिकतर सीआरपीएफ की हैं।

जम्‍मू-कश्‍मीर में आठ चरणों में चुनाव होना है। डीडीसी का पहली बार चुनाव हो रहा है। इसके अलावा पंचायत और निकायों के उपचुनाव भी हैं। आठ चरणों में होने जा रहा चुनाव 28 नवंबर से शुरू होगा और अंतिम चरण 22 दिसंबर को है। इस बात को लेकर प्रदेश की तरफ से एमएचए को अतिरिक्त बटालियनों को देने का आग्रह किया गया था, जिसे एमएचए ने मंजूर कर लिया। बुधवार को आदेश जारी करके बटालियनों को मूव करने के लिए कहा गया है।

20 जिलों में होना है डीडीसी का गठन
इसके अलावा प्रशासन को जवानों के खाने-पीने से लेकर उनके रहने और आने-जाने के लिए इंतजाम करने को कहा गया है। उन्हें ठंड से बचाव की सुविधा देने के लिए भी कहा गया है। बता दें कि हर डीडीसी में 14 निर्वाचन क्षेत्र हैं। कुल 20 जिलों में डीडीसी का गठन होना है, जिसके लिए कई उम्मीदवार मैदान में उतर गए हैं। नेताओं ने वोट लेने के लिए प्रचार करना शुरू कर दिया है।

उम्‍मीदवारों के साथ भी तैनात किए जाएंगे जवान
इन अतिरिक्त बलों को मतदान केंद्रों, मतदान का सामान ले जाने-वापस लाने, मतदान में लगाए गए कर्मचारियों को सुरक्षा देने के अलावा प्रदेश की बड़ी जगहों पर भी तैनात किया जाएगा ताकि चुनाव के दौरान कोई खलल ना पड़ सके। इन अतिरिक्त बटालियनों को उम्मीदवारों के साथ भी तैनात किया जाएगा। बता दें कि कश्मीर में नेताओं पर आतंकियों की तरफ से लगातार हमले किए जा रहे हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि कश्मीर में अधिक जवानों की तैनाती की जाएगी। यह भी कहा जा रहा है कि जिस प्रकार से चरणों में मतदान होना है, उसी हिसाब से जवानों को भी तैनात किया जाएगा। दो दिन पहले ही पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह की तरफ से कहा गया था कि चुनावों को लेकर पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है।

Related Articles

Close