देश

यूपी में मुख्‍तार अंसारी के करीबियों पर लगातार हो रहा है ऐक्‍शन

मऊ
बाहुबली विधायक मुख्‍तार अंसारी और उनके करीबियों पर योगी सरकार लगातार कार्रवाई कर रही है। गुरुवार को जहां वाराणसी में अंसारी के नजदीकी मेराज खान के घर के अवैध हिस्‍से को तोड़ दिया गया, वहीं मऊ में भूमाफिया मोहम्‍मद ईसा खान के बहुमंजिले कॉम्‍प्‍लेक्‍स पेरिस प्‍लाजा पर बुलडोजर चला दिया गया। सरकारी जमीन पर बने इस प्‍लाजा की कीमत करीब 20 करोड़ रुपये बताई जा रही है। इस मौके पर भारी मात्रा में पुलिस और प्रशासन के कर्मचारी मौजूद रहे।

मऊ के अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी ने बताया कि सहादतपुरा थाना कोतवाली में रहने वाला भूमाफिया ईसा खान मुख्तार अंसारी का बेहद करीबी है। ईसा ने बिना वैध नक्शे के तीन मंजिला कॉम्‍प्‍लेक्‍स का निर्माण करवाया था। इसको लेकर वर्ष 2000 से एक मुकदमा चल रहा था। गत 27 अगस्‍त को इस कॉम्‍प्‍लेक्‍स को गिराने का आदेश दिया गया था। ईसा ने इस फैसले के खिलाफ जिलाधिकारी न्यायालय में अपील की थी पर उसकी अपील खारिज हो गई थी।

मुन्‍ना बजरंगी के बाद अब मुख्‍तार का खास है मेराज खां
इससे पहले, वाराणसी के जैतपुरा इलाके में मुख्‍तार के करीब मेराज खान के आवास के अवैध निर्मित हिस्‍से को गिरा दिया गया। मेराज कभी मुन्ना बजरंगी गैंग में सक्रिय था पर अब वह अंसारियों का खास है। मेराज खां गाजीपुर के करीमुद्दीनपुर थाने के महेंद गांव का रहने वाला है। इसी गांव के ग्राम प्रधान नन्हे खान पर भी मुख्तार अंसारी का करीबी होने का हवाला देकर पुलिस ने उसपर कार्रवाई की थी। नन्हे ने मंगई नदी पर मछली पालन के लिए अवैध पुल का निर्माण किया था।

एनकाउंटर के डर से किया था सरेंडर
एक समय था जब मेराज माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी के सबसे क्लोज सर्कल का गुर्गा था और जरायम की दुनिया से अर्जित उसकी काली कमाई का हिसाब किताब रखता था। मेराज इन दिनों वाराणसी चौकाघाट जेल में है। उस पर अपने असलहों के लाइसेंस के नवीनीकरण में फर्जी दस्तावेजों के प्रयोग का आरोप है। इस बाबत वाराणसी के जैतपुरा थाने में मुकदमा भी दर्ज किया गया था। ऑपरेशन क्लीन में एनकाउंटर किए जाने के खौफ से उसने पिछले दिनों सरेंडर कर दिया था।

Related Articles

Close