छत्तीसगढ़रायपुर

किसान प्रकाश के आत्महत्या की वजह कृषि संबंधी नहीं

रायपुर
पिछले दिनों ग्राम तोरला में किसान प्रकाश तारक ने कृषि कारणों से आत्महत्या नहीं की है। उसके द्वारा आत्महत्या किए जाने का कारण कुछ और ही है जिसकी जांच पुलिस के द्वारा की जा रही है। रायपुर जिले के अभनपुर तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम तोरला में प्रकाश तारक द्वारा आत्महत्या किए जाने की खबर अखबरों में प्रकाशित हुई थी। इस खबर को कलेक्टर भारतीदासन ने गंभीरता से लेते हुए इस प्रकरण की जांच के लिये संयुक्त जांच कमेटी का गठन कर इस पूरे मामले की रिपोर्ट जल्द से जल्दे देन को कहा था। संयुक्त जांच कमेटी ने जांच पूरी कर अपनी रिपोर्ट कलेक्टर को सौप दी।

संयुक्त प्रतिवेदन में अनुविभागीय दण्डाधिकारी, अभनपुर ने बताया कि मृतक किसान प्रकाश तारक मृतक किसान साधन संपन्न था तथा उसे सभी शासकीय योजनाओं को सरकार से लाभ प्राप्त हो रहा था। संयुक्त जांच टीम को बताया गया कि

मृतक के परिवार में उसकी पत्नी और 4 बच्चे है। संयुक्त परिवार बंटवारा में प्राप्त 1.79 हेक्टेयर भूमि में प्रकाश तारक कृषि करता था। उसे मनरेगा से जॉब कार्ड भी मिला है। पारिवारिक बंटवारा में उसे तीन कमरा और एक किचन वाला मकान मिला है। मृतक के उपर कोई कर्ज नहीं था। उसके परिवार को नियमित रूप से शासकीय उचित मुल्य दुकान से चावल प्रदाय किया गया था। परिवार में भुखमरी की नौबत नहीं है। मृतक के घर से 1 कट्टा धान शासकीय उचित मूल्य दुकान से प्राप्त चावल पाया गया। हल्का पटवारी के अनुसार फसल की स्थिति सामान्य है। समिति के माध्यम से पिछले खरीफ धान विक्रय के दौरान मृतक के सम्मिलात खाते में 105 क्विटल धान विक्रय पर एक लाख 83 हजार की राशि दी गई और धान बोनस के रूप में तीन किस्तो में अभी तक 54 हजार रूपए की राशि दी जा चुकी है। पुलिस थाना गोबरा नवापारा में इस संबंध में मर्ग 72/8 दर्ज कर प प्रकरण में मृत्यु के कारणों की विस्तृत जांच की जा रही है।

 

Related Articles

Close