राजनीति

राहुल चुनाव प्रचार को आते तो हंसने का मिलता मौका- सांसद नामग्याल

लद्दाख
केंद्र शासित राज्य लद्दाख की लेह हिल काउंसिल के लिए गुरुवार को वोटिंग की गई। वोटिंग करने के बाद बीजेपी के सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल ने कांग्रेस के राहुल गांधी और सोनिया गांधी को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को लद्दाक में चुनाव प्रचार करने जरूर आना चाहिए था। उन्होंने कहा कि राहुल यहां आते तो लोगों को जोक्स सुनने का मौका मिलता।

सांसद ने कहा, 'मैं अनुरोध करता हूं कि कांग्रेस को लद्दाख में राहुल गांधी (चुनाव प्रचार के लिए) को लाना चाहिए था। हमारे लोग भी थोड़ा चुटकुले सुनते, हंसते-खिलखिलाते। उन्हें (कांग्रेस) सोनिया गांधी को भी लेह भी लाना चाहिए था, हम सुनना चाहते थे कि मैडम जी के क्या विचार हैं?'

जामयांग ने कहा, 'बीते 70 साल में लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश नहीं बना पाए। जब आठ जिले बनाए तो लद्दाक को एक जिला भी नहीं दिया।, केंद्र शासित प्रदेश कहां से बनाते? बीजेपी ने यहां काम किया है। केंद्र शासित प्रदेश बनाया है।'

केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद पहला चुनाव
आपको बता दें कि छठे लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद-लेह के लिए गुरुवार को मतदान हुए। पिछले साल इस क्षेत्र को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा मिलने के बाद यह पहली लोकतांत्रिक कवायद है।

94 उम्मीदवार आजमा रहे किस्मत
45,025 महिलाओं सहित 89,776 मतदाताओं के नाम वोटिंग लिस्ट में हैं। यहां पर 94 उम्मीदवार मैदान में हैं। लेह जिले के 26 निर्वाचन क्षेत्रों में फैले 294 मतदान केंद्रों में वोटिंग हुई। इन 94 उम्मीदवारों में भाजपा और कांग्रेस के 26-26 उम्मीदवार शामिल हैं।

आम आदमी पार्टी ने भी उतारे प्रत्याशी
कांग्रेस और भाजपा के अलावा, आम आदमी पार्टी (आप) भी 19 उम्मीदवारों को मैदान में उतारकर यहां पहली बार अपनी किस्मत आजमा रही है, जबकि बाकी 23 उम्मीदवार निर्दलीय हैं। नैशनल कॉन्फ्रेंस और पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) सहित क्षेत्रीय दलों ने चुनाव से दूर रहने फैसला किया है।

26 अक्टूबर को आएगा रिजल्ट
मतों की गिनती 26 अक्टूबर को होगी और चुनाव प्रक्रिया 30 अक्टूबर तक पूरी होने की उम्मीद है। लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद (एलएएचडीसी) लेह में कुल 30 सीटें हैं और चार पार्षद सरकार द्वारा नामित होते हैं।

Tags

Related Articles

Close