देश

यूपी धान खरीद में लापरवाही पांच केंद्र प्रभारी निलंबित, 199 पर विभागीय कार्रवाई

लखनऊ
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने धान खरीद में लापरवाही करने वाले अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की है। उन्होंने पांच केंद्र प्रभारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इतना ही नहीं 199 केंद्र प्रभारियों पर धान खरीद में लापरवाही करने पर विभागीय कार्रवाई की गई है। सीएम ने सभी जिले के डीएम को सख्त निर्देश दिए हैं कि लापरवाही और भ्रष्ट अधिकारियों को जेल भेजें।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिए हैं कि धान खरीद में जो भी करे गड़बड़ी उसे गिरफ्तार करके भेज भेजा जाए। सीएम ने बताया कि धान खरीद में लापरवाही करने वाले आठ केंद्र प्रभारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है। सख्त निर्देश हैं कि जो भी लापरवाही करे या भ्रष्टाचार करे उसके खिलाफ ऐसे ही गंभीर धाराओं में केस दर्ज करके जेल भेजा जाए।

किसानों के खातों में 113 करोड़ 21 लाख ट्रांसफर
यूपी सीएम ने कहा कि बाढ़ के कारण प्रदेश में 20 से ज्यादा जिले प्रभावित हुए। साढ़े तीन लाख किसान सीधे बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। किसानों की मेहनत की कमाई बाढ़ की चपेट में आई थी। उन्हें उसी समय पर राहत दी गई थी। अब सरकार ऐसे सभी प्रभावित किसानों के खाते में 113 करोड़ 21 लाख धनराशि मुआवजे के रूप में ट्रांसफर की है।

'अन्याय और शोषण करने वालों के साथ करें सख्ती'
योगी ने कहा कि किसान को जितना नुकसान हुआ है उसकी भरपाई कठिन है लेकिन मरहम लगाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों को परेशानी नहीं आनी चाहिए। सभी डीएम को निर्देश हैं कि जहां भी लगे कि किसानों का शोषण हो रहा है, उनके साथ अन्याय हो रहा है तो शोषण और अन्याय करने वालों के साथ सख्ती से निपटें।

'किसानों की लागत का मिले डेढ़ गुना'
सीएम ने कहा कि हर जिले के डीएम यह सुनिश्चित करें कि हर एक किसान को उसक फसल के सही दाम मिलें। प्रदेश में किसी भी किसान का शोषण न हो। उन्हें लागत का डेढ़ गुना दाम मिले यह सरकार की प्राथमिकता है।