विदेश

तालिबानी हमले में अफगान सुरक्षाबलों के 34 जवान मारे गए

काबुल
अफगानिस्तान में तालिबान से जारी शांति समझौते का कोई खास असर देखने को नहीं मिल रहा है। बुधवार को तालिबान आतंकियों के घात लगाकर किए गए हमले में अफगान सुरक्षाबलों के कम के कम 34 जवान मारे गए। बताया जा रहा है कि इस हमले में घायल कई सुरक्षाकर्मियों की हालात काफी गंभीर है। इसलिए मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है।

आतंकियों के साथ मुठभेड़ अब भी जारी
तखार प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता जावद हेज्री ने बताया कि तालिबान आतंकियों के साथ लड़ाई अब भी जारी है। उन्होंने दावा किया कि तालिबान लड़ाकों को भी भारी नुकसान उठाना पड़ा है। हालांकि, अभी तक यह पुष्टि नहीं हो पाई है कि तालिबान के कितने आतंकी इस मुठभेड़ में मारे गए हैं।

34 सुरक्षाकर्मियों के मौत की पुष्टि
बताया जा रहा है कि अफगान सुरक्षाबल इस इलाके में एक एक ऑपरेशन के लिए जा रहे थे। इसी दौरान तालिबान आतंकवादियों ने घात लगाकर सुरक्षाबलों पर हमला बोल दिया। तखार प्रांतीय स्वास्थ्य निदेशक अब्दुल कयूम ने इस घटना की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि तालिबान के हमले में प्रांत के उप-पुलिस प्रमुख सहित 34 सुरक्षाकर्मी मारे गए हैं।

पहले से किलेबंदी किए हुए थे तालिबान लड़ाके
हमले के समय तालिबान के लड़ाके आसपास के घरों में पहले से ही मजबूत किलेबंदी किए हुए थे। हालांकि, हमले के बाद अफगान सुरक्षाबलों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया है। मौके पर अतिरिक्त फोर्स को भी रवाना किया गया है। पूरे इलाके में सुरक्षाबलों की तैनाती को भी बढ़ा दिया गया है।

ताालिबान ने नहीं की कोई टिप्पणी
तालिबान की ओर से अभी तक इस घटना पर कोई टिप्पणी नहीं की गई है। इन दिनों तालिबान का शीर्ष राजनीतिक नेतृत्व कतर की राजधानी दोहा में अफगानिस्तान सरकार के साथ शांति वार्ता कर रहा है। इस बीच तालिबान आतंकियों के भीषण हमले से बातचीत के ऊपर भी असर पड़ने की संभावना बढ़ गई है।

Related Articles

Close