देश

गंगोत्री इंटरप्राइजेज पर सीबीआई का छापा

    लखनऊ
  
1500 करोड़ के बैंक लोन घोटाले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की छापेमारी जारी है. गंगोत्री इंटरप्राइजेज के नोएडा,लखनऊ, गोरखपुर के ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है. कंपनी पर बैंक लोन हड़प करके दूसरी जगह निवेश करने का आरोप है. बताया जा रहा है कि गंगोत्री इंटरप्राइजेज, बसपा विधायक से जुड़ी कंपनी है.

सीबीआई सूत्रों का कहना है कि बीएसपी विधायक विनय शंकर तिवारी से जुड़ी कंपनी गंगोत्री इंटरप्राइजेज पर आज छापेमारी की जा रही है. बैंक ऑफ इंडिया की अगुवाई वाले बैंकों के संघ की शिकायत के आधार पर सीबीआई ने विनय शंकर तिवारी और गंगोत्री एंटरप्राइजेज के अन्य निदेशकों के खिला बैंकों को कथित रूप से धोखा देने के लिए मामला दर्ज किया है.

कौन हैं विनय शंकर तिवारी
बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी, पूर्वांचल के बाहुबली नेता हरिशंकर तिवारी के छोटे बेटे हैं. आरोप है कि इनकी कई कंपनियों ने राष्ट्रीय बैंकों से लोन लिया था. इसके बाद गंगोत्री इंटरप्राइजेज ने लोन की रकम को समय से वापस नहीं किया. बैंकों का आरोप है कि लोन की रकम को दूसरी जगह निवेश किया गया.

विनय शंकर तिवारी, फिलहाल गोरखपुर की चिल्लूपार सीट से विधायक हैं. इस सीट से विनय शंकर तिवारी के पिता और बाहुबली नेता हरिशंकर तिवारी 6 बार लगातार (1985 से लेकर 2002 तक) विधायक रहे हैं. हरिशंकर तिवारी के बड़े बेटे भीष्मशंकर तिवारी, खलीलाबाद लोकसभा सीट से सांसद रह चुके हैं