इंदौर

उज्जैन में 7 मजदूरों की मौत ,CM शिवराज ने दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश

   उज्जैन

उज्जैन शहर में बुधवार को 7 मजदूरों की संदिग्ध अवस्था में मौत से सनसनी फैल गई. अलग-अलग समय पर शहर के अलग-अलग इलाकों में 7 मजदूरों के शव मिले हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन में 7 व्यक्तियों की संदिग्ध मृत्यु और उसकी परिस्थितियों के संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों से जानकारी ली। घटना में दोषी लोगों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए।

 शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में बुधवार को छह मजदूरों सहित सात की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। प्रारंभिक जांच में अधिक अथवा जहरीली शराब पीने से मौत की बात सामने आई है। हालांकि पुलिस का कहना है कि अभी मौत के कारणों का पता लगा रहे हैं।

बुधवार सुबह खाराकुआं थाने के छत्री चौक इलाके से दो मजदूर मृत मिले थे। इनकी पहचान 40 वर्षीय शंकरलाल निवासी पिपलोदा बागला और 45 वर्षीय विजय निवासी नागदा के रूप में हुई। पुलिस पड़ताल कर ही रही थी कि दोपहर में इसी क्षेत्र से बद्री पुत्र भेरूलाल नामक मजदूर का भी शव मिला।

शाम को खाराकुआं थाने के पास अलग-अलग इलाके में 65 वर्षीय अज्ञात व्यक्ति और बबलू पुत्र टीकाराम निवासी चंद्रशेखर आजाद मार्ग का शव मिला। पुलिस के अनुसार, ये सभी कच्ची शराब पीने के आदी थे। इसी प्रकार कोतवाली थाना क्षेत्र में भी तेलीवाड़ा इलाके में एक मजदूर 45 वर्षीय दिनेश पुत्र मदनलाल जोशी निवासी विष्णु कॉलोनी मृत अवस्था में मिला।

इधर, महाकाल थाना क्षेत्र के बेगमबाग इलाके में कपड़े का ठेला लगाने वाले पीरूशाह नामक व्यक्ति की भी मौत हो गई। एसपी मनोज सिंह ने बताया कि सभी मामलों में पीएम और अन्य जांचें करवाई गई हैं। रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता लगेगा।

सुबह दो मजदूरों के शव सड़क किनारे मिले, इसके बाद दोपहर में दो और मजदूरों के शव मिले. शाम को तीन और मजदूरों के शव मिले हैं. पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस का कहना है कि अभी मौत के कारणों का पता लगा रहे हैं, पोस्टमार्टम के बाद ही साफ होगा कि इन सभी लोगों की मौत कैसे हुई.

Tags

Related Articles

Close