खेल

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ एक बार फिर से अंपायर पर भड़के धोनी, याद आया 2019

शारजाह
चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल 2020) मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ यहां मंगलवार को मैदानी अंपायर द्वारा अपने फैसले को बदलने के कारण निराश और गुस्सा हो गए। अंपायर ने बल्लेबाज को आउट देने क बाद तीसरे अंपायर से मदद मांगी, जिसमें उनके फैसले को बदल दिया गया। मंगलवार (22 सितंबर) को चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच आईपीएल 2020 का चौथा मैच खेला गया। इस मैच में राजस्थान ने चेन्नई को 16 रनों से मात दी। राजस्थान रॉयल्स की पारी के 18वें ओवर में टॉम कुरैन को आउट दिए जाने के बावजूद रिव्यू लेने के अंपायरों के फैसले से धोनी खुश नहीं दिखे। दीपक चाहर की गेंद पर विकेटकीपर धोनी द्वारा गेंद पकड़े जाने के बाद मैदानी अंपायर सी शम्सुददीन ने आउट दे दिया। राजस्थान के पास रिव्यू नहीं बचा था और बल्लेबाज पवेलियन लौटने लगा। इसके बाद हालांकि, लेग अंपायर विनीत कुलकर्णी से बात करने के बाद शम्सुददीन को अपनी गलती का अहसास हुआ और उन्होंने तीसरे अंपायर से मदद मांगी। इसके बाद धोनी निराशा में अंपायर से बात करते देखे गए।

टेलीविजन रीप्ले में दिखा की गेंद धोनी के दस्तानों में जाने से पहले टप्पा खा चुकी थी। तीसरे अंपायर ने मैदानी अंपायर का फैसला बदल दिया, जिससे धोनी नाखुश दिखे। संयोग से, पिछले साल जयपुर में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ ही धोनी ने कमर से ऊपर फुलटॉस गेंद को नो बॉल नहीं दिए जाने के बाद मैदानी अंपायर उल्हास गान्धे के खिलाफ आपा खोया था। इस दौरान धोनी ने मैदान में घुस कर अंपायर से बहस कर खिलाड़ियों की आचार संहिता का उल्लंघन किया था। बता दें कि संजू  सैमसन ने स्पिनरों को निशाने पर रखकर केवल 32 गेंदों पर 74 रन बनाए, जिसमें नौ छक्के और एक चौका शामिल है। उन्होंने और स्टीव स्मिथ (47 गेंदों पर 69, चार चौके, चार छक्के) के साथ दूसरे विकेट के लिए 121 रन जोड़े। जोफ्रा आर्चर ने लुंगी एनगिडी के आखिरी ओवर में चार छक्के लगाकर केवल आठ गेंदों पर नाबाद 27 रन बनाए और रॉयल्स का स्कोर सात विकेट पर 216 रन पर पहुंचाया।  मुंबई इंडियंस के खिलाफ उद्घाटन मैच में पांच विकेट से जीत दर्ज करने वाले चेन्नई की तरफ से फैफ डुप्लेसी ने 37 गेंदों पर 72 रन बनाए, जिसमें एक चौके और सात छक्के शामिल हैं। महेंद्र सिंह धोनी ने तीन छक्कों की मदद से 17 गेंदों पर नाबाद 29 रन बनाए, लेकिन उनकी टीम आखिर में छह विकेट पर 200 रन तक ही पहुंच पाई।

 

Related Articles

Close