देश

केरल भारी बारिश 10 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट, बाढ़ का खतरा

तिरुवनंतपुरम
केरल (Kerala Rains) में भारी बारिश से एक बार फिर राज्य के लोगों की सांसें थम सी गई हैं। सोमवार सुबह से ही केरल (Kerala Weather Updates) के कई इलाकों में भारी बारिश हो रही है। मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी और पड़ोस में निम्न दबाव का क्षेत्र बनने के बाद 10 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है।

केरल के कोट्टयम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मालापुरम, कोझिकोड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड़ जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। कुंडला, कल्लारकुट्टी, मलंकारा और पोनमुडी बांध के दरवाजे खोल दिए गए हैं जिससे पेरियार, मुतीरापुझा और मुवाट्टुपुझा नदियों में जलस्तर बढ़ गया है।

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया, 'रविवार को तिरुवनंतपुरम में एक शख्स की मौत हो गई। भारी बारिश और तेज हवा की वजह से टूटे बिजली के तार की चपेट में आने से भी एक की मौत हो गई।' प्राधिकरण ने बताया, 'हमें सोमवार सुबह कासरगोड में भी एक व्यक्ति की मौत की खबर मिली है लेकिन अभी तक आधिकारिक रूप से विस्तृत जानकारी नहीं मिल पाई है।' मौसम बुलेटिन में बताया गया है कि बंगाल की खाड़ी के उत्तर पूर्व और पड़ोस में निम्न दबाव का क्षेत्र बना है और यह अगले दो-तीन दिन में पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ेगा।

डीएम ने बताया, 80 फीसदी भरा इडुक्की डैम
इडुक्की के जिलाधिकारी ने बताया कि डैम में उसकी क्षमता का 80 फीसदी पानी है। पिछले 24 घंटे में राज्य में औसत सात सेंटीमीटर बारिश हुई है। कासरगोड़ जिले में रविवार को हुई बारिश में कम से कम आठ घरों को नुकसान पहुंचा है। एनडीआरएफ की तीन यूनिट रविवार को केरल पहुंच गईं और इन्हें वायनाड़, मालापुरम और त्रिशूर जिले में तैनात किया गया है। इडुक्की और कोझिकोड जिले में पहले ही दो टीमें तैनात हैं।

अगस्त महीने में भी बारिश ने मचाई थी तबाही

बता दें कि इस साल अगस्त महीने में केरल ने भारी बारिश, बाढ़ और भूस्खलन जैसी आपदाएं झेली हैं। इडुक्की के मुन्नार में भूस्खलन में 52 लोगों की मौत हो गई और 19 लोग लापता हो गए। अगस्त में मौसम विभाग ने वायनाड़, कोझिकोड और इडुक्की के लिए रेड अलर्ट और 5 अन्य जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया था।

Related Articles

Close