छत्तीसगढ़रायपुर

गांधी जयन्ती को तीन चौथाई सजा काट चुके कैदियों को छोड़ा जाए : रिजवी

रायपुर
 2 अक्टूबर राष्ट्रपिता की जयन्ती के अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं जेल मंत्री ताम्रध्वज साहू के समक्ष सुझाव प्रेषित करते हुए जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख तथा वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि इस जयन्ती पर महात्मा गांधी की सोच हम सभी को अपराध से घृणा करना चाहिए न कि अपराधी से की उक्ति को अमलीजामा पहनाने का यह अति उपयुक्त समय है। इस दिशा में प्रदेश की विभिन्न जेलों में अलग-अलग धाराओं में कैदी कारावास की सजा काट रहे हैं। उसमें उन सभी कैदियों को जिन्होंने अपनी तीन चौथाई कारावास की सजा काट ली है, उन्हें मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए शेष सजा को माफ कर कैदियों को रिहा किया जाए ताकि उनका परिवार जो कैदी के जेल में रहने के कारण बेसहारा हो चुके हैं उन्हें सहारा मिल सके तथा परिवार बर्बाद होने से भी बच सकेगा।

रिजवी ने कहा कि कोरोना वायरस से कैदियों की दिनोदिन बढ़ रही संख्या पर कुछ हद तक रोक भी लग सकेगी तथा जेल से बाहर आकर अपना व अपने परिवार की देखरेख एवं कोरोना संक्रमण से भयभीत एवं ग्रसित परिवार की मदद साथ रह कर आसानी से कर सकेंगे। उदाहरणस्वरूप जैसे आजन्म कारावास की सजा काट रहे कैदी ने यदि 15 वर्ष की सजा भुगत ली है तो उस कैदी की रिहाई के लिए गांधी जयन्ती का अवसर सामयिक, उपयुक्त एवं सार्थक सिद्ध किया जा सकता है। माननीय मुख्यमंत्री जी से निवेदन है कि जेल मंत्री एवं अधिकारी वर्ग से चर्चा कर कैदियों को रिहाई देकर उनके परिवारजन की परेशानियों को दूर करें। 

Related Articles

Close