व्यापार

अडानी-अंबानी की कंपनियों की धनवर्षा से शेयरधारक हुए मालामाल

मुंबई
मुकेश अंबानी के रिलायंस ग्रुप और गौतम अडानी के अडानी ग्रुप के कई शेयर ऐसे हैं जिन्होंने पिछले एक साल में अपने निवेशकों को इतना ज्यादा रिटर्न दिया है कि वे सोच भी नहीं सकते थे. इन शेयरों में निवेश से निवेशक मालामाल हो गये हैं. उदाहरण के लिए अडानी ग्रुप की कंपनी अडानी ग्रीन ने एक साल में करीब 1265 फीसदी का रिटर्न दिया है. 
 
मंगलवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर अडानी ग्रीन एजर्नी के शेयर करीब 5 फीसदी की बढ़त के साथ 670.65 रुपये पर पहुंच गये.यह इस शेयर का पिछले एक साल का सबसे उच्चतम स्तर है. कंपनी का मार्केट कैप बढ़कर 1,04,890.62 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है.  एक साल पहले की बात करें तो 16 सितंबर, 2019 को यह शेयर करीब 55.55 रुपये कीमत पर था और 19 सितंबर को यह शेयर अपने साल भर के सबसे निचले स्तर 49 रुपये का था. इस तरह एक साल के भीतर इस शेयर में करीब 620 रुपये की बढ़त हुई है. यानी एक साल के अंदर निवेशकों को करीब इसने करीब 1265 फीसदी का रिटर्न दिया है. इस साल 1 जनवरी को इस शेयर की कीमत 175 रुपये के आसपास थी. यानी जनवरी से अब तक के करीब साढ़े आठ महीने में इस शेयर ने करीब 282 फीसदी का रिटर्न दिया है. पिछले एक महीने की बात करें तो 17 अगस्त को इस शेयर के भाव करीब 366 रुपये थे. इस तरह से एक महीने के भीतर अडानी ग्रुप के इस शेयर ने निवेशकों को करीब 83 फीसदी का रिटर्न दिया है. 

बड़े लक्ष्य पर नजर: वैसे तो गौतम अडानी के नेतृत्व में पिछले कुछ साल से पूरा अडानी ग्रुप जबरदस्त सफलता हासिल कर रहा है, लेकिन अडानी ग्रीन एनर्जी तो सफलता के नए इबारत लिख रहा है. इसके शेयर ने तो वाकई ​जानकारों और निवेशकों को हैरान किया है. अडानी ग्रीन एनर्जी सौर ऊर्जा कारोबार में है और इसका लक्ष्य दुनिया की नंबर वन सौर ऊर्जा कंपनी बनने का है. इस साल की जून तिमाही में कंपनी ने 21.75 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हासिल किया है. 
 
रिलायंस भी कम नहीं: निवेशकों को हैरान करने वाला दूसरा शेयर है देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज का. मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज निरंतर सफलता के झंडे गाड़ रही है. इससे खुद मुकेश अंबानी तो अमीरी के पायदान पर बढ़ते ही जा रहे, उनकी कंपनी के निवेशक भी मालामाल होते जा रहे हैं. मंगलवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर की कीमत 2317 रुपये तक पहुंच गई. यही नहीं 14 सितंबर को तो यह अपनी सर्वकालिक उंचाई 2360 रुपये पर पहुंच गया था. एक साल पहले की बात करें तो 16 सितंबर के आसपास इसका दाम करीब 1200 रुपये था. यानी इसने एक साल में इस शेयर ने निवेशकों को करीब 93 फीसदी का रिटर्न दिया है. 

यही नहीं, इस साल 23 मार्च को यह शेयर अपने साल के सबसे निचले स्तर 875.70 रुपये पर पहुंच गया था. यानी पिछले करीब छह महीने में ही इस शेयर ने निवेशकों को करीब 165 फीसदी का रिटर्न दिया है. लगातार मिल रही सफलता: मुकेश अंबानी के नेतृत्व में रिलायंस इंडस्ट्रीज लगातार सफलता के नए प्रतिमान गढ़ रही है. लॉकडाउन के दौरान जब ज्यादातर कंपनियां परेशान थीं, रिलायंस ग्रुप में विदेशी निवेशक निवेश के लिए कतार लगाये बैठे थे. फेसबुक सहित एक दर्जन से ज्यादा कंपनियों ने रिलायंस ग्रुप की कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स में करीब 1.52 लाख करोड़ रुपये का निवेश कर डाला. यही नहीं, इसके बाद अब समूह की एक और कंपनी रिलायंस रिटेल में निवेश की होड़ शुरू हो गई है. सिल्वर लेक पार्टनर्स ने इसमें 7500 करोड़ रुपये के निवेश का ऐलान किया है और कई अन्य कंपनियां कतार में हैं. 

Related Articles

Close