इंदौर

आपके वादों का क्या हुआ कमलनाथजी-डॉ. राजेश सोनकर

इंदौर
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के प्रस्तावित सांवेर दौरे पर भारतीय जनता पार्टी जिला इंदौर के अध्यक्ष डॉ. राजेश सोनकर ने कमलनाथ से कांग्रेस द्वारा सन् 2018 के आम चुनाव में अपने वचन पत्र में जनता से किये गये वादों का व 15 महिने के कांग्रेस शासन काल के हिसाब को लेकर प्रश्न पूछे है।

राजेश सोनकर ने कहा कि आपने और कांग्रेस के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी ने सन 2018 में किसानों का दो लाख रूपये तक का कर्ज 10 दिनों में माफ करने का वादा किया था उन किसानों के नामों की सूची, और कर्ज माफ ना होने की दशा में मुख्यमंत्री ही बदल देने का वादा किया था। क्या आप सांवेर की जनता को ये बताने की कृपा करेंगे कि प्रदेश अध्यक्ष और सांवेर के कितने किसानों के दो लाख रूपये तक का कर्ज माफ किया और कर्ज माफ ना कर पाने की दशा में कितने मुख्यमंत्री बदल दिये गये।

श्रीमान् कमलनाथजी सांवेर की जनता आपसे जानना चाहती है कि आपकी कांग्रेस सरकार ने कितनी माताओं-बहनों के समूह लोन माफ किये की सूची।

आपने वचन पत्र में बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था सांवेर विधानसभा का युवा आपसे जानना चाहता है कि आपकी 15 पहिने की कांग्रेस सरकार ने प्रदेश और सांवेर विधानसभा के कितने बेरोजगार युवाओं को कितनी-कितनी राशि का बेरोजगारी भत्ता दिया गया उनकी सूची।

सांवेर की बहने जानना चाहती है कि कन्याओं की शादी के कन्यादान योजनाओं में 51000 रूपये की राशि कन्यादान में प्रदान की गई सूची।

कमलनाथजी सांवेर के बुजुर्ग आपसे जानना चाहते है कि कितने बुजुर्ग माता-पिता को तीर्थ दर्शन योजना में तीर्थ यात्रा करवाई गई कि सूची।

श्रीमान् कमलनाथजी आपने वचन पत्र में घोषणा की थी कि प्रत्येक गांव में गौशाला खोली जायेगी, सांवेर विधानसभा क्षेत्र में 15 महिनों की कांग्रेस सरकार के दौरान कितनी गौशालाएं खोली गई उनकी सूची।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षजी, भारतीय जनता पार्टी के पिछले शासनकाल 2013 से 2018 में सांवेर विधानसभा क्षेत्र में 125 नई सड़कों व 23 नये पूल-पुलियाओं की स्वीकृति करवाई गई थी, अर्थात 25 सड़के प्रतिवर्ष स्वीकृत करवाई गई थी, सांवेर की जनता जानना चाहती है कि आपके नेतृत्व वाली 15 महिनें की कांग्रेस सरकार में क्या एक भी नई सड़क और क्या एक भी नया पुल सांवेर में स्वीकृत हुए उनका नाम बताये।

कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने हर वर्ग को धोखा दिया, हमेशा पैसे की कमी का रोना रोने वाली उस समय की सरकार ने जनता के साथ बेईमानी की। आपने कर्जमाफी के झूठे प्रमाण-पत्र दिये लेकिन बैंकों को पैसा नहीं दिया। सहरिया बहनों को दिये जाने वाले एक हजार रूपये बंद करके उनके साथ धोखा किया। फसल बीमा की प्रीमियम खा गये, बेटियों के साथ धोखा किया, गरीबों के कफन के पांच हजार रूपये भी खा गये, कफन चोर सरकार, संबल योजना बंद कर दी, तीर्थ दर्शन योजना बंद कर दी, शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर किसानों को कर्जा देना बंद कर दिया, प्रसुता बहनों से उनके लड्डू छीन लिये, भाजपा सरकार ने हर वर्ग के लिये जनहितेषी योजनाएं बनाई थी, उन्हें आपने एक-एक करके बंद कर दी।

आपकी निकम्मी सरकार आईफा अवार्ड की तैयारियों में जूटी रही और प्रदेशवासियों को कोरोना महामारी ने अपनी चपेट में ले लिया तथा आपने कुछ नहीं किया।

आपकी सरकार ने जनता से जो छीना था, अब हमारी सरकार उसे वापस लोटा रही है, अब भाजपा की सरकार विकास में कसर नहीं छोडेंगे, आपकी सरकार के समय जब कोई जनप्रतिनिधि विकास की बात करता था तो आप उसे चलो-चलो कहकर टाल देते थे।
 
प्रदेश में 15 माह तक रही आपकी सरकार ने अगर कोई काम किया है वो है गरीबों से उनके हक छिनने का। इस सरकार ने गरीबांं की योजनाएं तो बंद कर ही दी थी, उनके लिये स्वीकृत हुए 2 लाख 43 हजार प्रधानमंत्री आवास लौटा कर लाखों गरीबों के सिर से छत भी छिन ली।
 
आपकी 15 माह की सरकार ने गरीब, मजदूर, विद्यार्थी, नौजवान, किसान एवं महिलाओं के साथ किये गये चुनावी वचन पत्र को पूरा ना करते हुए सभी वर्गो के साथ धोखा किया है।

मुख्यमंत्री रहते हुए आपको सांवेर की याद नहीं आई, खेल और खलिहान भी याद नहीं आये और आप कहते थे वल्लभ भवन से बैठकर सरकार चलायेंगे आज आपको सांवेर की याद आई तो कृपया उक्त योजनाओं की सूची भी अवश्य लेकर आये और मंच से सांवेर की जनता को भी सूचियां दिखाने का कष्ट करें।

आपकी सरकार में जब आपके पास जनता या जनप्रतिनिधि मिलने जाते थे तो आपके पास मिलने का समय नहीं होता, लेकिन जब कोई ठेकेदार मिलने जाता था तो आने दो-आने दो, बोरे भर-भरकर नोट आने दो। कमलनाथ बोरानाथ बन गये थे और तबादला उद्योग चरम पर चल रहा था, जब उनके करीबी के यहां छापा पड़ा तो बोरे भर-भर कर नोट निकले थे और आपकी सरकार ने भ्रष्टाचार के सारे रिकार्ड तोड़ दिये थे।

Related Articles

Close