भोपाल

निर्माण कार्यों को तेज गति से पूरा करें : उच्च शिक्षा मंत्री यादव

भोपाल
उच्च शिक्षा विभाग के अंतर्गत चल रहे निर्माण कार्यों को तेजी से पूरा करें। निर्माण कार्यों के लिए स्वीकृत राशि का समय-सीमा में उपयोग करें। किसी भी स्थिति में राशि समर्पित नहीं होने दें। उक्त निर्देश उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने निर्माण एजेंसियों से संबंधित विभागों के अधिकारियों को मंत्रालय में उच्च शिक्षा विभाग के निर्माण कार्यों, ई-प्रवेश तथा परीक्षाओं के संबंध में आयोजित बैठक में दिए।

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि निर्माण कार्यों का प्रचार-प्रसार करायें। उनका लोकार्पण एवं शिलान्यास के अवसर पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को भी सूचित करें। उन्होंने कहा कि जिन कार्यों की निविदाएं पूरी हो चुकी हैं उन्हें शीघ्रता से प्रारंभ करायें। जो कार्य पूर्ण होने की स्थिति में है उन्हें प्राथमिकता के साथ पूरा करायें। उन्होंने परियोजना क्रियान्वयन इकाई लोक निर्माण विभाग द्वारा भवनविहीन महाविद्यालयों के 50 नवीन भवन निर्माण के कार्यों में शेष रहे कार्य भी तेज गति से गुणवत्ता के साथ पूरा करने के निर्देश दिए।

मंत्री डॉ. यादव ने स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं के लिए ऑनलाइन प्रवेश की प्रक्रिया निर्धारित समय-सीमा में पूरा करने एवं उपलब्ध सीट के अनुसार प्रवेश देने के संबंध में निर्देश दिए। उन्होंने ओपन बुक परीक्षा पद्धति के तहत आयोजित परीक्षाओं की उत्तर-पुस्तिकाएँ जमा करने के लिए संग्रहण केन्द्रों की पर्याप्त व्यवस्था रखने के निर्देश दिए। उन्होंने रूसा चरण-2 के कार्यों की गति बढ़ाने के लिए संभागवार समीक्षा बैठकें भी आयोजित करने के निर्देश दिए।

आयुक्त उच्च शिक्षा मुकेश शुक्ला ने बताया कि भोपाल विकास प्राधिकरण द्वारा 20 महाविद्यालयों के निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिये गये हैं। राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) के अंतर्गत बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में 15 करोड़ के कार्य होंगे जिसके लिए निविदा प्रचलन में है। उन्होंने कहा कि 9 महाविद्यालयों श्योपुर, देपालपुर, टीकमगढ़, विदिशा, सीहोर, बैतूल, छतरपुर, नरसिंहपुर एवं मंदसौर में 90 प्रतिशत कार्य पूरा कर लिया गया है।

बैठक में प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा अनुपम राजन सहित विभिन्न निर्माण विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।