देश

BMC की कार्रवाई और शिवसेना के साथ विवाद के बीच कंगना को मिला अब इस बड़े हिन्दुवादी संगठन का साथ

 नई दिल्ली 
महाराष्ट्र में शिवसेना के आंखों की किरकिरी बनी बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत को शीर्ष हिन्दुवादी संगठन अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (एबीएपी) का साथ मिला है। कंगना को देश की ‘बहादुर और साहसी’ लड़की करार देते हुए अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि ने कहा कि “डर” की वजह से सरकार ने एक्ट्रेस पर हमला किया है।

गिरि ने कहा, “ड्रग माफिया और फिल्म इंडस्ट्री में गठजोड़ के साथ भाई-भतीजेवाद और एक समुदाय के बॉलीवुड में कब्जे पर एक्ट्रेस कंगना की निर्भीक आवाज के चलते ये हुआ है। माफिया और राज्य सरकार दोनों ही डरे हुए हैं और उनके ऊपर हमले कर रहे हैं।”

कंगना का समर्थन करते हुए गिरि ने आगे कहा कि सभी संत और देश के लोग इस लड़ाई में कंगना के साथ हैं। उन्होंने हिमाचल प्रदेश और केन्द्र सरकार को भी कंगना को सुरक्षा कवर देने के लिए धन्यवाद किया।

बीएमसी की तरफ से मुंबई के पाली हिल स्थित ऑफिस में अवैध निर्माण बताकर बुधवार को की गई तोड़फोड़ को गिरी ने बदले के मकसद के की गई कार्रवाई बताते हुए उन्होंने कहा कि कंगना की आवाज को दबाई जा रही है। कंगना की तरफ से मुंबई को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की तरह कहने पर उनकी और शिवसेना के बीच तलवार खिंची हुई है। बीएमसी पर शिवसेना का ही कब्जा है।

33 वर्षीय एक्ट्रेस जो बुधवार को अपने गृह राज्य हिमाचल से मुंबई लौटी हैं, उन्होंने आरोप लगाया कि उनका शिवसेना के साथ चल रहे विवादों के चलते ही महाराष्ट्र सरकार ने यह कार्रवाई की है। हालांकि, बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना को बड़ा राहत देते हुए बीएमसी की तरफ से की जा रही तोड़फोड़ की कार्रवाई पर रोक लगा दी है।

Related Articles

Close