विदेश

शिंजो आबे ने pm मोदी से की 30 मिनट तक बात ,PMपद को अलविदा

टोक्यो
जापान के प्रधानमंत्री पद को अलविदा कहने से पहले शिंजो आबे ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की। दोनों नेताओं के बीच यह बातचीत 30 मिनट चली। इस दौरान आबे ने गुरुवार को भारत और जापान के संयुक्त ऐक्शन्स का जिक्र किया। फ्री और ओपन इंडो-पैसिफिक बनाने और रणनीतिक-वैश्विक सहयोग को आगे ले जाने के लिए दोनों देशों ने द्विपक्षीय संबंधों में जो कदम उठाए हैं, आबे ने उनके बारे में बताया। जापान के विदेश मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी है। जापान के प्रधानमंत्री के तौर पर आबे सबसे ज्यादा वक्त के लिए पद पर रहे हैं। अब वह स्वास्थ्य कारणों ने पद छोड़ रहे हैं।

साथ काम करते रहेंगे भारत-जापान
भारत और जापान के बीच कई क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंध मजबूत रहे हैं। खासकर आर्थिक सहयोग, समुद्री सुरक्षा और इंडो-पैसिफिक में। पीएम मोदी से बातचीत पर जापान के आधिकारिक बयान में बताया गया, 'दोनों प्रधानमंत्रियों ने माना है कि जापान और भारत की मूल नीति वही रहेगी। दोनों देश सुरक्षा, अर्थव्यवस्था और आर्थिक सहयोग के साथ-साथ मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल प्रॉजेक्ट पर साथ काम करते रहेंगे।' इस बात पर भी सहमति कायम की गई कि जापान का नेतृत्व बदलने से दोनों देशों के बीच संबंधों पर असर नहीं पड़ेगा।

सेनाओं के बीच समझौते का स्वागत
हाल के सालों में दोनों देशों के बीच गहराए संबंधों पर आबे ने कहा कि दोनों प्रधानमंत्रियों ने फ्री और ओपन इंडो-पैसिफिक के विजन को सच करने के लिए काम किया है और विशेष रणनीतिक-वैश्विक सहयोग को आगे ले जाया गया है। दोनों देशों की सेनाओं के बीच समझौते का भी स्वागत किया गया है। जापान की सेल्फ-डिफेंस फोर्स और भारत के सशस्त्र बलों के बीच सप्लाई और सर्विसेज के आदान-प्रदान का समझौता किया गया है।

'मोदी के साथ दोस्ती के लिए आभार'
बयान में कहा गया है कि इससे दोनों सेनाओं के बीच जमीन पर सहयोग बढ़ेगा और दोनों वैश्विक शांति और सुरक्षा में भूमिका देंगी। आबे ने इस दौरान पद छोड़ने के अपने फैसले पर मोदी के साथ 'दोस्ती और विश्वास के रिश्ते के लिए आभार।' मोदी ने भी आबे के प्रयासों की सराहना की और एक-दूसरे से मुलाकातों को याद किया। मोदी ने आबे के नेतृत्व और भारत-जापान के बीच संबधों को आगे ले जाने के लिए भी सराहना की। दोनों देशों ने साथ मिलकर कोरोना वायरस की महामारी से निपटने पर भी सहयोग जाहिर किया।

Related Articles

Close