देश

रेड, ग्रीन और वायलेट लाइन पर आज से शुरू हुई मेट्रो सेवा

 नई दिल्ली 
यलो, ब्लू पिंक के बाद अब गाजियाबाद, फरीदाबाद, और बहादुरगढ़ को जोड़ने वाले रेड, वायलेट और ग्रीन लाइन पर आज से मेट्रो सेवा शुरू हो चुकी है। इसके साथ दिल्ली मेट्रो के मंडी हाउस, कीर्ति नगर, इंद्रलोक, वेलकम इंटरचेंज स्टेशन खुल गए। इस लाइन में शुरू हुई मेट्रो सेवा से पुरानी दिल्ली से लेकर पश्चिमी दिल्ली, उत्तर-पूर्वी दिल्ली को सबसे अधिक फायदा होगा साथ ही एनसीआर के शहरों के बीच आवाजाही और आसान हो जाएगी।

वॉयलेट लाइन पर आज शहीद राजा नाहर सिंह मेट्रो स्टेशन से सुबह 7:02 बजे पहली मेट्रो चली। पहली ट्रेन में करीब 20 से ज्यादा यात्री सवार थे। मेट्रो यात्रा शुरू होने पर यात्री काफी खुश नजर आए। हालांकि, मेट्रो स्टेशनों पर आज पहले की तरह भीड़ भाड़ नजर नहीं आ रही थी। वहीं, गाजियाबाद की रेड लाइन पर शहीद स्थल न्यू बस अड्डा मेट्रो स्टेशन से पहली मेट्रो 7.15 बजे चली। इसमें 26 यात्री सवार हुए थे।

दिल्ली मेट्रो ने इन तीनों लाइन (रेड, वायलेट और ग्रीन) पर 95 ट्रेन सेट उतारेगी। जो कि दिनभर में करीब एक हजार ट्रिप लगाएगी। सबसे अधिक ट्रिप रेड लाइन (रिठाला से पुराना बसअड्डा गाजियाबाद) के बीच 413 ट्रिप मेट्रो लगाएगी। मेट्रो के उम्मीद है कि इन तीन लाइन के खुलने के बाद यात्रियों की संख्या में तेजी से इजाफा होगा। बुधवार को ब्लू लाइन और पिंक लाइन के खुलने से यात्रियों की संख्या में दोगूना से ज्यादा की बढ़ोत्तरी हुई है। सुबह की पाली में ही अकेले 33 हजार से अधिक लोगों ने सफर किया है।

पीक व नॉन पीक आवर्स में समान होगी फ्रीक्वेंसी
दिल्ली मेट्रो ने कहा कोविड के दौरान पीक व नॉन पीक आवर्स में मेट्रो की फ्रीक्वेंसी बिल्कुल समान रहेगी। पहले पीक आवर्स में ट्रेन जल्दी जल्दी मिलती थी। मगर कोविड के देखते हुए सिर्फ पीक आवर्स में भीड़ ना हो इसलिए हर समय समान फ्रीक्वेंसी पर ट्रेन चलती रहेगी। दिल्ली मेट्रो ने समान्य स्टेशन पर मेट्रो के रूकने का समय भी 20 से 25 सेंकेड और इंटरचेंज स्टेशन पर 50 सेकेंड से अधिक समय तक बढ़ा दिया है। इसका असर ओवर ऑल फ्रीक्वेंसी पर भी पड़ा है।

11 सितंबर से बढ़ जाएगा परिचालन का समय
दिल्ली मेट्रो ने 11 सितंबर को ग्रे व मजेंटा लाइन खोलने के साथ परिचालन का समय भी बढ़ा देगी। परिचालन पहले की ही तरह सुबह शाम दो पाली में होगा। मगर सुबह की पाली को 7 से 11 के बजाएं बढ़ाकर 7 से दोपहर 1 बजे तक कर दिया जाएगा। इसी तरह शाम की पाली में शाम 4 बजे से 8 के बजाएं 10 बजे तक चलाया जाएगा। मसलन दोनों ही पाली में परिचालन का समय 2-2 घंटे बढ़ जाएंगे। यह व्यवस्था सभी लाइन पर लागू हो जाएगी।