भोपाल

गाय का निवाला छीनकर शिवराज सरकार भर रही मंत्रियों का टैक्स- जीतू पटवारी

भोपाल
मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया अध्यक्ष और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा है कि शिवराज सरकार गौ माता का निवाला छीनकर मंत्रियों का इनकम टैक्स भर रही है। जीतू पटवारी ने कहा कि कितनी राक्षसी प्रवृत्ति हो सकती है किसी सरकार की, कितनी हैवानियत हो सकती है किसी सरकार की, कितनी निर्दयिता हो सकती है किसी सरकार की यह शिवराज सिहं जी ने बता दिया है। एक तरफ उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने वहाँ के मंत्रीयों का वेतन काटा। हम विधायकों का वेतन कटा हम सबने स्वागत किया किसी ने कोई आपत्ति नहीं ली।

आज प्रदेश की आर्थिक दृष्टि से देखा जाए तो एक सरकारी कर्मचारी पेंशन लेने वाला व्यक्ति भी अपने पैसे से इनकम टैक्स भरता है। लेकिन ऐसे में मंत्रियों का टैक्स सरकार भरेगी। जीतू पटवारी ने कहा कि शिवराज सिंह जी आपको शर्म आती है कि नहीं आती, आखिर क्या हो गया है आपको, आप क्या थे और क्या हो गए हो, एक ऐसा सज्जन आदमी जिसको मध्य प्रदेश की जनता ने संभावनाओं से देखा था तीन-तीन बार आपको चुनाव जिताया आपको सरआंखो पर बिठाया लेकिन आप सत्ता के नशे में इतने चूर हो गए कि सब भूल गए।

पूर्व मंत्री ने कहा कि लोकतंत्र के हत्यारों का यह गिरोह पहले लोकतंत्र की हत्या की अब लोगों की हत्या करना चाहते है। जीतू पटवारी ने कहा कि सरकार की कोई एक्टिविटी कोविड को लेकर नहीं है, मैं मानता हूँ यह बहुत चिंता का विषय है। ग्वालियर, इंदौर और भोपाल जैसे बडे शहरों में भयावाह तरीके से कोविड फैल रहा है। जीतू पटवारी ने शिवराज सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार ने आंकडे कम करने के लिए टेस्ट बंद करवा दिए कम करवा दिए है। मौतों को छुपा रहे है और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इसको टेकल कर रहे है। जीतू पटवारी ने कहा कि यह कांग्रेस का आरोप है कि कोविड की वजह से जितने लोग मर रहे है मेडिकल कालेजो के डीन और अस्पतालों को उनके आंकड़े छुपाने के निर्देश दिए गए है।

जीतू पटवारी ने कहा कि इस भयावह कि स्थिति के बीच में एक तरफ सरकारी खजाने से प्लेन खरीदा गया आर्थिक संगट है सरकार की कमर टूटी हुई है खुद मुख्यमंत्री कह चुके है, केन्द्र की मोदी सरकार जीएसटी का पैसा प्रदेश को नहीं दे रही है लेकिन फिर भी यह शिवराज सरकार मंत्रियों का टैक्स सरकारी खजाने से भरने जा रही है। जीतू पटवारी ने कहा कि कोविड महामारी की वजह से लोग परेशान है। लगभग सवा तीन सौ परिवार के लोग मौत के गाल में समा गए और लगभग 24 हजार परिवार जन महामारी के चपेट में आ गए है।

कोविड से संक्रमित परिवार की वेदना कोई नहीं समझ रहा, अस्पताल में बेड नहीं मिल रहा, दवाई नहीं मिल रही, ढग खाना नहीं मिल रहा, अस्पताल में भर्ती मरीजों को कीड़ो- कोकरोज वाला खाना दिया जा रहा है और सरकार एक तरह से कह रही है कि आपको मरना है तो मर जाओ हम आपका साथ नहीं दे सकते। मुख्यमंत्री ने टीवी चैनलों के सामने माइक से बार-बार कहा कि अपनी स्वमं करें।

जीतू पटवारी ने कहा कि लोकतंत्र की हत्या करने वाले सारे गद्दारों ने सरकार गिराने के बाद सारे सरगनाओं ने यह कहा था कि मध्य प्रदेश की जन सेवा करने के लिए यह गद्दारी की है। लेकिन तीन दिन पहले खुद मुख्यमंत्री ने इन सभी सरगनाओं और लोकतंत्र के हत्यारों से मुख्यमंत्री कहा कि जब तक सत्ता है तब तक ही यह मौज मस्ती है, हाव- भाव है आगे-पीछे प्रशासन है और यह मान और सम्मान है, ये चला जाएगा तो सब चला जाएगा, इसलिए गंभीरता से चुनाव में लगो। जो लोकतंत्र के हत्यारों का यह गिरोह जो यह कहता था कि जनसेवा के लिए यह कृत्य किया वह कह रहे है कि अब मौज-मस्ती के लिए सत्ता हथियाने दो।

कांग्रेस कमेटी के मीडिया अध्यक्ष जीतू पटवारी ने कहा कि एक तरफ जहाँ मंत्री विधायकों का वेतन बंद कर देना चाहिए वह दौर है। जीतू पटवारी ने कहा कि आपने किसानों को मौत के गाल में कर दिया। आपने बजट में गौ माता के चारे के लिए मात्र 1.30 का प्रावधान किया क्या 1.30 में गाय का पेट भर जाएगा। गौ माता का पेट काटकर आप मंत्रियों का टैक्ट भर रहे हो यह समझ से परे है। उन्होंने कहा कि शिवराज जी मंत्रियों के टैक्स के लिए जो पैसा दे रहे है उससे कमलनाथ जी के द्वारा एक हजार से अधिक बनाई गई गौशालाओं के गायों के चारे का प्रावधान कीजिए। आप इस पैसे के कोविड मरीजों के लिए प्रावधान कीजिए। आप उन मंत्रियों का टैक्स भरने जा रहे है जो मंत्रालय में कुछ काम करते नहीं, विधायक है नहीं, बड़ी-बड़ी मीटिंग करते है शोभा यात्राएं निकाल रहे है जिससे लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे ह

Related Articles

Close