राजनीति

उपचुनाव: अधिसूचना जारी होने के बाद ही प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष नाथ ग्वालियर में भरेंगे हुंकार

भोपाल
प्रदेश में उपचुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाद ही प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ग्वालियर जाएंगे। उनका पहला दौरा मेगा शो जैसा करने के लिए कांग्रेस के नेताओं में एक राय हो गई है। अब क्षेत्र के नेताओं और कार्यकर्ताओं को उनकी पहली सभा के लिए एक लाख से ज्यादा लोगों को जुटाने का टारगेट दिया जाने वाला है।

सूत्रों की मानी जाए तो कमलनाथ के सलाहकारों ने यह तय किया है कि पीसीसी चीफ का ग्वालियर में पहला दौरा या पहली सभा पार्टी का ग्वालियर-चंबल में मेगा शो होना चाहिए। दरअसल पार्टी 27 सीटों पर उपचुनाव कमलनाथ के चेहरे पर लड़ने की तैयारी कर चुकी है। ऐसे में चुनाव वाले क्षेत्रों में कमलनाथ की एंट्री लोकप्रिय और जननेता के रूप में ग्वालियर-चंबल संभाग में करवाने पर उनके सलाहकार जोर दे रहे हैं। इसके चलते यह तय किया जा रहा है कि उपचुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाद ही कमलनाथ को ग्वालियर क्षेत्र में जाना चाहिए। ताकि उनकी सभा और दौरे का असर मतदान के दिन तक बना रहे। इसके लिए जल्द ही क्षेत्र के कांग्रेस नेताओं को कमलनाथ की सभा में भीड़ जुटाने के लिए टारगेट दिए जाने शुरू हो सकते हैं। इस सभा के जरिए प्रदेश भर की सभी 27 सीटों पर कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने का संदेश भी देने का पार्टी का प्रयास होगा।

पहले यह बताया जा रहा था कि कमलनाथ 12 और 13 सितम्बर को ग्वालियर के दौरे पर रहेंगे, लेकिन उनके सलाहकारों के निर्णय के बाद यह दौरा निरस्त कर दिया गया है। सूत्रों की मानी जाए तो इसके पीछे यह बताया जाता है कि यदि चुनाव नवम्बर में हुए तो दो महीने तक कमलनाथ के पहले दौरे का माहौल बनाए रखना पार्टी के लिए मुश्किल भरा होगा।

कांग्रेस नेताओं को उम्मीद है कि उपचुनाव का कार्यक्रम इस महीने घोषित हो जाएगा। मतदान और मतगणना नवंबर में होगी। चुनाव कार्यक्रम घोषित होते ही बड़ी सभाएं और कार्यक्रम करने की अनुमति मिल जाएगी। अभी बड़ी सभांए और कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं होने के चलते भी कमलनाथ मैदान में नहीं उतर रहे हैं।

Related Articles

Close