छत्तीसगढ़रायपुर

आंध्र और तेलंगाना के रास्ते पर लगा लंबा जाम, कई गांवों का जिला मुख्यालय से टूटा संपर्क

दोरनापाल। सुकमा और बीजापुर में 9 दिन से हो रही लगातार बारिश के कारण नदी-नाले उफना पर हैं इससे कई गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट  गया है। सुकमा में नेशनल हाईवे 30 पानी में डूब गया है, इस वजह से आंध्रप्रदेश और तेलंगाना जाने का मार्ग बंद हो गया है। यहां दोनों ओर रात करीब 3 बजे से वाहनों की लंबी लाइन लगी हुई है।

लगातार हो रही बारिश के चलते सुकमा में दोरनापाल का संपर्क टूट गया है। दोरनापाल टापू की तरह नजर आ रहा है। दोरनापाल से 16 किमी पहले ही वाहनों की आवाजाही रोकी जा रही है। बोदागुडा और दुब्बाटोटा नाला में 30 फीट से ऊपर पानी बह रहा है। इसके चलते नेशनल हाईवे पर भी पानी का बहाव काफी तेज है। यहां 100 से ज्यादा ट्रक और कई वाहन फंसे हुए हैं। सुकमा में हो रही बारिश अगर नहीं थमी तो हालात और भी बिगड़ सकते हैं। दोरनापाल का संपर्क पहले ही जिला मुख्यालय से टूट गया है। यहां पर केवल एक ही छोटा अस्पताल है। अगर ऐसे में बीमारी या संक्रमण फैलता है तो स्थिति संभालने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। फिलहाल प्रशासन नजर रखे हुए है। दर्जनों गांवों का संपर्क टूट गया है।

जिले का संपर्क ओडिशा से भी कट गया है। मलकानगिरि जाने वाला मार्ग पूरी तरह से पानी की चपेट में है। जिला मुख्यालय से 6 किमी दूर शबरी नदी के ऊपर झापरा के पास बना अंतरराज्यीय पुल डूब गया है। इसके साथ ही दोरनापाल में भी बड़े पुल पर शबरी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। इसके साथ ही जिले के आधा दर्जन से ज्यादा ग्राम पंचायतों का संपर्क भी टूट गया है।

Related Articles

Close